मेरठ: पंजाब की तीन डिस्टलरी से यूपी में सप्लाई हो रहा मौत का सामान, 5 करोड़ की नकली शराब बरामद

Meerut Newsपांच करोड़ की नकली शराब के साथ सात गिरफ्तार

Meerut Newsपांच करोड़ की नकली शराब के साथ सात गिरफ्तार

Meerut Crime News: एसएसपी अजय साहनी ने इस मामले में खुलासा करते हुए बताया कि पंजाब से यूपी के संडीला जा रहे ईएनए के टैंकरों से मेरठ के ढाबों पर केमिकल चोरी किया जा रहा था.

  • Share this:

मेरठ. पंजाब (Punjab) में खुलेआम नशे के कारोबार की  रील स्टोरी "उड़ता पंजाब" आपने देखी होगी, लेकिन अब रियल लाइफ में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में नकली शराब (Illicit Liquor) का जहर फैलाने वालों का पंजाब कनेक्शन सामने आया है. मेरठ पुलिस (Meerut Police) ने 5 करोड़ कीमत की नकली केमिकल, रैपर, बोतल और ढक्कन बरामद किए हैं. लोगों को मौत का सामान बांटने वाले 7 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. ये लोग पंजाब की डिस्टलरी से आने वाले केमिकल की चोरी करके वेस्ट में नकली शराब का गोरखधंधा चला रहे थे.

मेरठ की पुलिस लाइन खड़े दो टैंकर 60 हज़ार लीटर ENA केमिकल से भरे हुए हैं. आपको बता दें कि ENA शुद्ध अल्कोहल होता है अगर कोई इसमें बराबर पानी मिलाकर भी पी ले तो भी मर जाएगा. एसएसपी अजय साहनी ने इस मामले में खुलासा करते हुए बताया कि पंजाब से यूपी के संडीला जा रहे ईएनए के टैंकरों से  मेरठ के ढाबों पर केमिकल चोरी किया जा रहा था. जिसके बाद इस केमिकल में यूरिया और अन्य कई केमिकल मिलाकर मिस्टर इंडिया और करीना समेत कई पॉपुलर देसी दारू के ब्रांड की बोतलों में पैक कर कर बेचा जा रहा था.

गैंग के सात सदस्य गिरफ्तार

नकली शराब बनाने वालों का रैकेट वेस्ट यूपी में फैला है. यहां लोग मोटे मुनाफे के लालच में लोगों की जान से भी खिलवाड़ करने से नहीं चूक रहे हैं. इस गैंग के अब तक 23 लोग प्रकाश में आ चुके हैं, इनमें से दस के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज की गई है. जिसमें से 7 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है. इन लोगों के कब्जे से करीब 5 करोड रुपए की नकली शराब और उसे तैयार करने वाला सामान बरामद किया गया है.
बता दें कि देसी शराब में अल्कोहल की मात्रा करीब 43 फ़ीसदी के आसपास होती है. जबकि ENA में अल्कोहल की मात्रा 98 फ़ीसदी से ज्यादा होती है. अगर कोई व्यक्ति 55 फ़ीसदी से ज्यादा अल्कोहल वाली शराब पी ले तो  उसकी जान जा सकती है. ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि नकली शराब तैयार करने वालों के पास न तो अल्कोहल मीटर है और न ही उनके पास टेक्निकल स्टाफ जो शराब में अल्कोहल की मात्रा को नियंत्रित कर सके.

पंजाब की तीन डिस्टलरी पर केस दर्ज करने की तैयारी

अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत के बाद मेरठ पुलिस शराब माफियाओं की धरपकड़ में जुटी थी. जिसके बाद मेरठ की स्वाट टीम ने एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश कर दिया। मेरठ पुलिस की इस कामयाबी पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने 200000 का इनाम पुलिस टीम को देने की घोषणा की है.  मेरठ पुलिस अब वेस्ट यूपी में मौत का सामान बांटने वाली पंजाब की पायनियर डिस्टलरी के साथ साथ दो अन्य डिस्टलरी के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज करने की तैयारी में जुटी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज