Assembly Banner 2021

मेरठ के इन सेंटर्स पर लग रहा कोरोना का टीका, जानिए मन में उठ रहे हर सवाल के जवाब

निजी अस्पतालों में प्रति व्यक्ति हर डोज के 250 रुपए तक ले सकते हैं.
सांकेतिक फोटो (news18 English)

निजी अस्पतालों में प्रति व्यक्ति हर डोज के 250 रुपए तक ले सकते हैं. सांकेतिक फोटो (news18 English)

Meerut Corona Vaccination Centres: कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए पहले को-विन 2.0 पोर्टल या फिर एप पर पंजीकरण करवाना होगा. उसके बाद उन्हें आइडेंटिटी कार्ड के टीकाकरण केंद्र जाना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 1, 2021, 11:19 AM IST
  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में सोमवार से कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) का दूसरा चरण शुरू हो गया है. होगा. सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन फ्री लगेगी, जबकि  सरकार द्वारा चयनित निजी अस्पतालों में इसकी कीमत 250 रुपए निर्धारित की गई है. कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए पहले को-विन 2.0 पोर्टल या फिर एप पर पंजीकरण करवाना होगा. उसके बाद उन्हें आइडेंटिटी कार्ड के टीकाकरण केंद्र जाना होगा. इसके अलावा 45 साल के ऊपर वाले जो गंभीर बिमारियों से ग्रस्त उन्हें डॉक्टर से जारी सर्टिफिकेट साथ लाना होगा.

मेरठ में ये हैं सेंटर्स


लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल, संतोष नर्सिंग होम, एमएसवाई मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, आपुस नोवे मल्टी स्पेशलिटी  हॉस्पिटल, सीएफाएस नेत्रालय प्राइवेट लिमिटेड, वेलेंटिस कैंसर केयर, विनायक ऑय एंड मैटरनिटी हॉस्पिटल, यशलोक हॉस्पिटल एंड नर्सिंग होम, जवाहर ऑय एंड ईएनटी हॉस्पिटल, भूपाल हॉस्पिटल, गिरी पुष्पा आरोग्य  हॉस्पिटल,डॉ श्रॉफ ऑय चैरिटी हॉस्पिटल, सरस हॉस्पिटल, आशुतोष नर्सिंग होम, लाइफ लाइन हॉस्पिटल, लक्ष्य हेल्थ केयर सेंटर, दयानन्द ननर्सिंग होम, सूर्य मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल एंड ट्रामा  सेंटर,जगत हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, होप हॉस्पिटल,.जेपी हेल्थकेयर हॉस्पिटल, विज़न ऑय केयर एंड लेज़र सेंटर, प्रकाश ऑय एंड लेज़र सेंटर, केएमसी हॉस्पिटल एंड रीसर्च सेंटर डॉ ममता हॉस्पिटल एंड स्टोन सेंटर, साई हॉस्पिटल एंड क्रिटिकल केयर सेंटर, देवकीनंदन हॉस्पिटल, लोकप्रिय हॉस्पिटल, संतोष हॉस्पिटल, वर्धमान हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, अजय हॉस्पिटल, एसएम हॉस्पिटल, संजय ऑय नर्सिंग होम, कैपिटल हॉस्पिटल, मेडीवेरवे हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, सिल्वर क्रॉस हॉस्पिटल एंड ट्रामा सेंटर, सिद्धि विनायक मेडिकल सेंटर, राजीव हॉस्पिटल एंड ट्रामा सेंटर, छत्रपति शिवाजी सुभारती हॉस्पिटल, डॉ सौरभ हॉस्पिटल, रीता मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल एंड ट्रामा सेंटर, श्री देव श्री मेडिकल केयर हॉस्पिटल, सीबी मेमोरियल नर्सिंग होम, मेरठ ओर्थपेडीक एंड रिसर्च सेंटर, हिमालय हॉस्पिटल, निरोगधाम कमल हॉस्पिटल, श्रीमती उर्मिला त्यागी नर्सिंग होम.

  • क्या बुजुर्गों को उम्र के चलते वैक्सीन लेनी चाहिए, भले ही जहां वे रहते हों वहां कोरोना संक्रमण के ज्यादा कैस न हों?

    जी हां. बुजुर्गों को वैक्सीन लेना जरूरी है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि जहां वे रहते हैं वहां केस कम हैं या ज्यादा. क्योंकि, कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बना हुआ है.


  • कौन सी वैक्सीन उपलब्ध है और ये कितनी असरकारक है?


    स्वास्थ्य केंद्रों पर कोविशील्ड और कोवैक्सीन उपलब्ध हैं. WHO के मुताबिक, ये दोनों असरकारक हैं.


  • क्या वैक्सीन लगने पर कोई रिएक्शन होगा और अगर वो ऐसा महसूस करें तो क्या करें?


    वैक्सीन का रिएक्शन होने की संभावना है. लेकिन, इसके ज्यादा केस देखने को नहीं मिले. अगर बुजुर्ग कुछ बदलाव महसूस करते हैं तो घबराने की बात नहीं है. हर स्वास्थ्य केंद्र पर डॉक्टर्स की, कोरोना वॉरियर्स की और विशेषज्ञों की टीम मौजूद है. ये टीम रिएक्शन देखते ही तुरंत हरकत में आ जाती है.


  • उन बुजुर्गों का क्या जिन्हें गंभीर बीमारियां हैं, जैसे कैंसर, किडनी, हार्ट या लिवर की बीमारी?


    गंभीर बीमारियों वाले बुजुर्ग भी वैक्सीन लगवा सकते हैं. उन्हें अपनी बीमारी का सर्टिफिकेट साथ ले जाना होगा. एक आइडेंटिटी कार्ड भी साथ ले जाना जरूरी है.


  • कैसे आवेदन करें. और अगर इसके बारे में जानकारी न हो तो किससे पूछें?


    वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेश जरूरी है. ये रजिस्ट्रेशन को-विन 2.0 एप/पोर्टल पर उपलब्ध है. अगर यहां रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा हो तो आईडेंटिटी के साथ संबंधित स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर जानकारी ली जा सकती है. इसकेअलावा आशा कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से भी जानकारी ली जा सकती है.


  • क्या वैक्सीन सेंटर कोरोना संक्रमण को फैलाने वाला केंद्र या संक्रमण का सुपर स्प्रेडर तो नहीं बन जाएगा?


    नहीं, कोविड सेंटर कोरोना संक्रमण का सुपर स्प्रेडर नहीं बनेगा. सैनेटाइजर, ग्लास शील्ड, मास्क के अलावा एक्सपर्ट्स की टीम और एंबुलेंस के साथ सेंटर्स पूरी तरह सुरक्षित हैं.


  • क्या लोग लाइन में लगकर वैक्सीन लगकर वैक्सीन लगवा सकते हैं, ताकि उन्हें जल्दी वैक्सीन लग जाए, क्योंकि कई लोग अंतिम क्षणों में कोविड सेंटर पहुंचेंगे?


    जी बिल्कुल. लाइन में लगकर भी वैक्सीन लगवाई जा सकती है. स्वास्थ्य केंद्रों पर रात 10 बजे तक वैक्सीन लगाई जाएगी. अगर कोई रह भी जाता है तो दूसरे दिन सुबह जल्दी आ सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज