UP Bar Council ने सीएम योगी आदित्यनाथ से की मांग, हर जिले में जजों व वकीलों के लिए रिजर्व करें 50 बेड

उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के अध्यक्ष रोहताश अग्रवाल

उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के अध्यक्ष रोहताश अग्रवाल

Meerut News: उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के अध्यक्ष रोहताश अग्रवाल ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि हर जिले में 50 बेड अधिवक्ताओं और न्यायिक पदों से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए रिजर्व किए जाए, ताकि उनका जीवन बचाया जा सके.

  • Share this:

मेरठ. दिल्ली (New Delhi) के बाद अब उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी अधिवक्ता (Lawyers) और न्यायिक अधिकारियों (Judicial Officers) के लिए अस्पतालों में बेड रिजर्व किए जाने की मांग ने जोर पकड़ लिया है. उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के हालातों को देखते हुए यूपी बार काउंसिल (UP Bar Council) के चेयरमैन रोहताश अग्रवाल (Rohtash Agrawal) ने अधिवक्ताओं और जजेस के लिए हर जिले में 50 बेड आरक्षित करने की मांग की है. इसके लिए बार काउंसिल के चेयरमैन रोहताश अग्रवाल ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र भी लिखा है.

दरअसल उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते कई जजेस के परिवार वालों और अधिवक्ताओं का जीवन चला गया है. जिसके बाद दिल्ली की तर्ज पर अब यूपी में भी अधिवक्ताओं और न्यायिक अधिकारियों के लिए अस्पतालों में बेड रिजर्व किए जाने की मांग ने जोर पकड़ लिया है. खुद उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के अध्यक्ष रोहताश अग्रवाल ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि हर जिले में 50 बेड अधिवक्ताओं और न्यायिक पदों से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए रिजर्व किए जाए, ताकि उनका जीवन बचाया जा सके.

कई लोगों की हो चुकी मौत

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में ऑक्सीजन और अस्पतालों में बेड की कमी है. जिसके चलते कई लोग अपना जीवन खो चुके हैं. जिसमें एक बड़ी संख्या अधिवक्ताओं और उनके परिवार वालों की है. उन्होंने कुछ जजेस के जीवन पर भी संकट की की बात कही. उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वह पहले ही अधिवक्ताओं और न्यायिक अधिकारियों के लिए बेड रिजर्व करने की मांग कर चुके हैं. हालांकि अभी तक इस पर शासन की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज