Home /News /uttar-pradesh /

मेरठ:-अब गंभीर बीमारियों के लिए नहीं करना होगा दिल्ली का रुख,मेरठ मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशलिटी विभाग में मिलेंगी आधुनिक सुविधाएं

मेरठ:-अब गंभीर बीमारियों के लिए नहीं करना होगा दिल्ली का रुख,मेरठ मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशलिटी विभाग में मिलेंगी आधुनिक सुविधाएं

मेडिकल

मेडिकल कॉलेज में बनाया गया सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक

पश्चिम उत्तर प्रदेश से संबंधित जिलों के मरीजों को पहले गंभीर बीमारियों का इलाज कराने के लिए लखनऊ के पीजीआई हॉस्पिटल या दिल्ली जाना पड़ता था. लेकिन यह सभी सुविधाएं अब लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज मेरठ में मिल सकेगी. जी हां मेडिकल कॉलेज में बने सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक के तहत सात तरह की बीमारियों का गंभीर इलाज भी आधुनिक सुविधा मिलेगी.

अधिक पढ़ें ...

    मेरठ:-पश्चिम उत्तर प्रदेश से संबंधित जिलों के मरीजों को पहले गंभीर बीमारियों का इलाज कराने के लिए लखनऊ के पीजीआई हॉस्पिटल या दिल्ली जाना पड़ता था. लेकिन यह सभी सुविधाएं अब लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज मेरठ( Meerut) में मिल सकेगी. जी हां मेडिकल कॉलेज में बने सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक (super specialty block )के तहत सात तरह की बीमारियों का गंभीर इलाज भी आधुनिक तरीके से मेरठ में ही किया जा सकेगा. जिससे गरीब से गरीब व्यक्ति को भी बेहतर इलाज मिल सकें.

    सामान्य ओपीडी के साथ-साथ स्पेशल ब्लॉक में भी देखेंगे डॉक्टर
    मेडिकल कॉलेज में सप्ताह में 6 दिन चलने वाली सामान्य ओपीडी प्रतिदिन सुचारू रूप से चलेंगी.वही स्पेशल ब्लॉक में जो सुविधाएं बनाई गई है. उसमें भी डॉक्टर गंभीर मरीजों का इलाज करेंगे. इसी के साथ ही साथ दिल की बीमारियों से संबंधित स्टेटिंग, सर्जरी, ऑपरेशन और दिल की सभी जांच भी अब अस्पताल के ओपीडी काउंटर से ही मरीज काॅडियो ओपीडी का पर्चा बनाकर करा सकते हैं. मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ आरसी गुप्ता ने बताया किदिल की सभी जांच और ऑपरेशन की सुविधा मेडिकल कॉलेज में एंजियोग्राफी से पहले होती थी. अब एंजोप्लास्टिक एंड एंजियोग्राफी, ईको, टीएमटी भी होगी. दिल की पांच बड़ी जांचों की सुविधा मरीजों को यहीं मिलेगी. बाहर भटकना नहीं पड़ेगा. वही बच्चों के दिल के वाल्व, दिल में छेद, दिल से जुड़ी सभी गंभीर परेशानी का इलाज भी पीडीया कार्डियोलॉजिस्ट के अंडर में हो सकेगा. इसके लिए विशेषज्ञ की टीम है.

    सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में मिलेंगी सात तरह की स्वास्थ्य सेवाए

    मेडिकल में अब कार्डियोलॉजी, सीटीवीएस, न्यूरो सर्जरी, न्यूरोलॉजिस्ट, रेडियो थेरेपी एंजियोग्राफी, सहित अन्य प्रकार की जांच कर बीमारियों का ट्रीटमेंट किया जाएगा. जिसमें कैंसर से संबंधित गंभीर इलाज हो या फिर गंभीर रूप से जले हुए मरीज हो. सभी मरीजों का आधुनिक तरीके से इलाज किया जा सकेगा.

    स्पेशल ब्लॉक में 40 आईसीयू बेड
    सुपरस्पेशलिटी ब्लॉकआईसीयू के बेड बेड लगाए गए हैं. जिससे आधुनिक सेवाओं के साथ मरीजों को बेहतर इलाज किया जा सके. गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण की गति को विराम लगाने के लिए जो ऑक्सीजन की कमी और आईसीयू बेड की आवश्यकता पड़ी थी. तब मेरठ मेडिकल कॉलेज के इसी स्पेशल ब्लॉक में कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज भी किया गया था.

    रिपोर्टविशाल भटनागरमेरठ

    Tags: मेरठ

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर