• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • MEERUT MEERUT PVVNL DIRECTOR FINANCE SAYS USE OF ELECTRIC HEATER IN WINTERS IS CRIME UPAT

PVVNL के निदेशक बोले- सर्दियों में रुम हीटर का प्रयोग करना देशद्रोह जैसा

पीवीवीएऩएल के निदेशक (वाणिज्य) इंजीनियर आईपी सिंह

Meerut News: इंजीनियर आईपी सिंह का कहना है कि अगर इलेक्ट्रिक हीटर की तुलना गैस से की जाए तो आपको अंदाज़ा होगा कि इलेक्ट्रिक हीटर का खर्चा तीन गुना ज्यादा होता है.

  • Share this:
    मेरठ. पीवीवीएऩएल (PVVNL) के निदेशक (वाणिज्य) इंजीनियर आईपी सिंह (IP Singh) का कहना है कि अगर हम किचन में इलेक्ट्रिक हीटर (Electric Heater) और इलेक्ट्रिक रुम हीटर का इस्तेमाल करते हैं या फिर हीटर से पानी गर्म करते हैं तो ये नेशनल वेस्टेज़ की श्रेणी में आता है. और नेशनल वेस्टेज करना देशद्रोह की ही श्रेणी में आता है. क्योंकि वेस्टेज़ इज़ ए क्राइम.

    हीटर से खर्चा भी तीन गुना ज्यादा

    इंजीनियर आईपी सिंह का कहना है कि अगर इलेक्ट्रिक हीटर की तुलना गैस से की जाए तो आपको अंदाज़ा होगा कि इलेक्ट्रिक हीटर का खर्चा तीन गुना ज्यादा होता है. अगर हम किचन में इलेक्ट्रिक हीटर का इस्तेमाल कर खाना बना रहे हैं और यही खाना हम गैस से बनाते हैं तो उपभोक्ता का खर्चा तीन गुना कम होगा. लेकिन लोग हैं कि मानते नहीं. यही काम इससे कम कीमत पर दूसरे साधन से भी किया जा सकता है. जिससे कॉस्ट का अंतर तीन गुना तक कम हो सकता है.

    सुरक्षा के लिहाज से भी खतरनाक

    इंजीनियर आईपी सिंह का कहना कि सुरक्षा के लिहाज़ से भी बिजली ज्यादा ख़तरनाक है. इसलिए उनका तर्क है कि किचन में इलेक्ट्रिक हीटर नहीं होना चाहिए. सर्दियों में भी रूम हीटर का प्रयोग नहीं होना चाहिए. उन्होंने भी ख़ुद विभाग में होते हुए कभी किचन में इलेक्ट्रिक हीटर का इस्तेमाल नहीं किया.

    इंजीनियर आईपी सिंह ने कहा कि बिजलीघरों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की बात को सरकार का बेहतर कदम बताया. उन्होंने कहा कि पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड बिजलीघरों में कैमरे लगवाने की कवायद में जुटेगा. इंजीनियर आईपी सिंह का कहना है कि बिजलीघरों पर आए दिन होने वाले हंगामों के मद्देनजर ऐसा फैसला लिया गया है. ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भी इस संबंध में ट्वीट किया है. यही नहीं उन्होंने बताया कि पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड बिजली चोरी रोकने के भी अनूठे प्रयास कर रहा है.
    Published by:Amit Tiwari
    First published: