लाइव टीवी

कोरोना वायरस के चलते मेरठ के कैंची उद्योग को मिली संजीवनी, ये है कारण
Meerut News in Hindi

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 26, 2020, 9:34 PM IST
कोरोना वायरस के चलते मेरठ के कैंची उद्योग को मिली संजीवनी, ये है कारण
चीन से इंपोर्ट रुका तो मेरठ के कैंची उद्योग को मिली संजीवनी

कोरोना वायरस के चलते आजकल चाइनीज कैंची (Chinese scissors) का इंपोर्ट बंद हो गया है. लिहाज़ा वर्षों से घाटे पर रहा मेरठ का कैंची कारोबार एकाएक उछाल पर आ गया है. कह सकते हैं कि कोरोना वायरस ने 350 साल पुराने कैंची उद्योग को संजीवनी दे दी है.

  • Share this:
मेरठ. यूं तो कोरोना वायरस ने सभी को डरा रखा है, लेकिन इसी वायरस ने कैंची कारोबारियों के चेहरे पर मुस्कान ला दी है. कोरोना वायरस (Corona Virus) के कारण आजकल चीन से आने वाले सभी प्रकार के सामान की आवाजाही पर एक तरह से रोक लग गई है. चीन से सामान न आने की वजह से अधिकतर उद्योग धंधों की गति धीमी पड़ गई है लेकिन इसके उलट मेरठ के कैंची उद्योग की धार और अधिक पैनी हो आ रही है.

चीनी कैंची के इंपोर्ट पर रोक से डिमांड में मेरठ की कैंची
कोरोना वायरस से कैंची उद्योग डाउन होने की बजाए उछाल पर है. चाइनीज कैंची से मेरठ के कैंची उद्योग को हर साल काफी नुकसान पहुंच रहा था, लेकिन चाइना से कैंची के इम्पोर्ट पर बैन के बाद अब वापस मेरठ के कारीगरों की कैंची की डिमांड बढ़ गई है. मेरठ का कैंची उद्योग को देश विदेश में ख्याति प्राप्त है. यहां के कारीगरों के हाथ से बनी कैंची का कुछ साल पहले तक बहुत बड़ा बाजार था, लेकिन पिछले दो तीन साल से चाइनीज कैंची का इंपोर्ट शुरु होने से देसी कैंची की पकड़ बाजार में कमजोर पड़ गई थी.

सस्ती होने के कारण बाजार में छा गई थी चाइनीज़ कैंची



चाइनीज कैंची सस्ती होने के कारण देसी कैंची से अधिक बाजार में छा गई थी. हालत यह है कि कोरोना से पहले चाइनीज कैंची का भारत में सालाना कारोबार 30 करोड़ के करीब है तो मेरठ की कैंची का सालाना कारोबार करीब 20 करोड़ पर सिमट गया था. ऐसे में अब चाइनीज कैंची के इंपोर्ट पर रोक लगने से दोबारा मेरठ के कैंची उद्योग में उछाल आना शुरु हो गया है.

ये भी पढ़ें -
आज़म खान और बेटे अब्दुल्ला का नया पता- रामपुर जेल बैरक नंबर-1, महिला बैरक में तजीन फातिमा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 9:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर