मेरठ के सौरभ ने फिर लगाया अचूक निशाना, कुवैत में जीता गोल्ड मेडल

गोल्ड मेडल जीतने का पता लगने के बाद सौरभ के परिवार में खुशी की लहर दौड़ पड़ी. सौरभ के परिवार वालों ने गांव में मिठाइयां बांटकर खुशी मनाई.

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 10, 2018, 9:46 AM IST
मेरठ के सौरभ ने फिर लगाया अचूक निशाना, कुवैत में जीता गोल्ड मेडल
अन्तर्राष्ट्रीय शूटर सौरभ चौधरी
News18 Uttar Pradesh
Updated: November 10, 2018, 9:46 AM IST
मेरठ के रहने वाले अन्तर्राष्ट्रीय शूटर सौरभ चौधरी ने अबकी बार कुवैत में अपनी शूटिंग का जलवा दिखाया है. 16 साल के इस शूटर ने दीवाली पर 11वीं एशियन एयर पिस्टल चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता है. एशियाड के बाद सौरभ चौधरी का यह चौथा स्वर्ण पदक है. गोल्ड मेडल जीतने का पता लगने के बाद सौरभ के परिवार में खुशी की लहर दौड़ पड़ी. सौरभ के परिवार वालों ने गांव में मिठाइयां बांटकर खुशी मनाई.

सौरभ के पिता जगमोहन ने बताया कि कुवैत में आयोजित इस अन्तर्राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में भाग लेने महीने के पहले हफ्ते में सौरभ चौधरी दिल्ली से रवाना हुए थे. 8 नवम्बर को उन्होंने 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा के जूनियर पुरूष वर्ग में कारनामा करते हुए गोल्ड मेडल जीता है. दीपावली पर सौरभ की इस उपलब्धि से उनका गांव कलीना में जश्न का माहौल है. परिवार के लोग उनके लौटने का इंतजार कर रहे हैं.

बता दें कि तीन महीने में सौरभ चौधरी की यह चौथी उपलब्धि है. सौरभ इससे पहले जकार्ता में आयोजित एशियन गेम्स में देश के लिए गोल्ड, दक्षिण कोरिया में आयोजित वर्ल्डकप में सोने का तमगा और फिर अर्जेन्टीना में हुए यूथ ओलिम्पक में सोना जीतकर देश का नाम रोशन कर चुके हैं. सौरभ ने बागपत के बिनौली गांव की शाहमल शूटिंग रेंज में सटीक निशाना लगाने के गुर सीखे हैं. सौरभ के परिवार में पिता जगमोहन, मां ब्रजेश, बड़ा भाई नितिन, बहन साक्षी और सबसे छोटा सौरभ है. जगमोहन खेती कर परिवार का पालन-पोषण करते हैं.

शूटर सौरभ के माता-पिता


सौरभ के पिता जगमोहन ने बताया कि दीपावली पर उनके बेटे ने देश को एक और सोने का तोहफा दिया है. पूरा परिवार और गांव खुश है. उनकी हर उपलब्धि मेरठ जिले का नाम रोशन कर रही है. कलीना गांव निवासी जगमोहन सिंह ग्रेजुएट हैं. उन्होंने बच्चों को आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. उनका बड़ा बेटा नितिन एसएससी की तैयारियां कर रहा है. सौरभ ने निशानेबाजी में पहचान बनाई. सौरभ को मुख्यमंत्री की ओर से गैजेटेड ऑफिसर की नौकरी की भी घोषण की गई है. बेटी साक्षी की शादी कर दी गई है. अब जगमोहन अपने बड़े बेटे नितिन के कैरियर को लेकर चिंतित हैं.

(रिपोर्ट: निखिल अग्रवाल)

ये भी पढ़ें:
Loading...
सीएम योगी के शहर 'गोरखपुर' का 8 से अधिक बार बदला गया नाम, जानें क्यों

शादी से इनकार करने पर युवती ने किया प्रेमी पर 'तेजाब' से हमला, गिरफ्तार

गाजियाबाद: भाईदूज के दिन बहन के सामने भाई की गोली मारकर हत्या

सीएम योगी सहित सरकार के मंत्री करेंगे 'बूथ कार्यकर्ताओं' का अभिनंदन, ये रहा प्लान

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर