मेरठः मंदिर में लाउडस्पीकर को लेकर दो समुदाय भिड़े, जमकर चले लाठी-डंडे

मंदिर में लाउडस्पीकर पर हुआ विवाद (प्रतीकात्मक फोटो)
मंदिर में लाउडस्पीकर पर हुआ विवाद (प्रतीकात्मक फोटो)

घंसौली गांव में गुरुवार रात अनुसूचित जाति के कुछ युवक मंदिर में लाउडस्पीकर लगाकर भजन चला रहे थे. दूसरे समाज के लोगों ने इसका विरोध किया. बस इसी बात को लेकर दोनों समुदायों के लोग आपस में भिड़ गए.

  • Share this:
यूपी के मेरठ में एक बार फिर दो समुदायों के बीच विवाद की खबर आ रही है. बताया जा रहा है कि यहां एक गांव के दो समुदायों के बीच देर रात मंदिर के लाउडस्पीकर को लेकर विवाद हो गया. इस दौरान दोनों पक्षों के बीच लाठी-डंडे चलने लगे और पथराव भी हुआ. सूचना मिलने पर पुलिस गांव में पहुंची और एक पक्ष के आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद गांव के हालात को काबू में किया गया. अब गांव में तनाव को देखते हुए पीएसी की तैनाती की गई है.

मेरठ के कंकड़खेड़ा थाना क्षेत्र का है मामला
ये पूरी घटना मेरठ के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र की है. जहां घंसौली गांव में गुरुवार रात अनुसूचित जाति के कुछ युवक मंदिर में लाउडस्पीकर लगाकर भजन चला रहे थे. दूसरे समाज के लोगों ने इसका विरोध किया. बस इसी बात को लेकर दोनों समुदायों के लोग आपस में भिड़ गए. आरोप है कि दूसरे समुदाय के लोगों ने अनुसूचित जाति के युवकों पर लाठी-डंडे से हमला कर दिया.

दोनों पक्षाें में जकर पथराव, कई घायल
आरोप यह भी है कि वहां दोनों पक्षों के बीच पथराव भी हुआ, जिसमें रात तीन-चार लोग घायल हो गए. इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी. अधिकारी फौरन कई थानों की फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए. पुलिस को देखकर हमलावर वहां से भाग निकले. इस दौरान पुलिस एक ही पक्ष के 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.



घटना के बाद पुलिस ने ग्रामीणों से गांव में शांति बनाए रखने की अपील की है. वहीं इस मामले पर गांव में रहने वाले दोनों पक्षों के लोगों का कहना है कि उनके बीच कभी कोई लड़ाई नहीं हुई है. ये कुछ लोगों की हरकत है, जो एक ही परिवार के हैं. विवाद का कारण उनके बीच बच्चों की लड़ाई थी. फिलहाल, गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें: 

CM योगी का फरमान- अक्षम और दागी अफसरों को नौकरी से करें बाहर

नुसरत के खिलाफ फतवे पर भड़कीं बीजेपी नेता, कही यह बात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज