Home /News /uttar-pradesh /

मेरठ:-भैस चोरी की घटनाओं से परेशान ग्रामीणों ने पूरे गांव में लगा दिया तीसरी आंख का पहरा

मेरठ:-भैस चोरी की घटनाओं से परेशान ग्रामीणों ने पूरे गांव में लगा दिया तीसरी आंख का पहरा

गांव

गांव में लगे सीसीटीवी कैमरे के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम

मेरठ के ऐसे गांव के बारे में बताएंगे.जिस गांव में चप्पे चप्पे पर निगरानी करने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं.जी हां मेरठ से लगभग 10 किलोमीटर दूर कुढ़ला में हर रोज जानवरों की चोरी होने के कारण ग्रामीण काफी परेशान थे. ऐसे में रात में ग्रामीणों द्वारा पहरा भी दिया गया. उसके बावजूद भी जब जानवरों की चोरी नहीं रुकी.

अधिक पढ़ें ...

    मेरठ :-बड़े-बड़े शोरूम की बात की जाए या वीआईपी कॉलोनी की सभी जगह नाइट विजन सीसीटीवी कैमरे लगे होते हैं. जिससे चोरी की घटनाएं हो तो कैमरे में कैद हो जाए. लेकिन आज हम आपको मेरठ के ऐसे गांव के बारे में बताएंगे.जिस गांव में चप्पे चप्पे पर निगरानी करने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं.जी हां मेरठ से लगभग 10 किलोमीटर दूर कुढ़ला में हर रोज जानवरों की चोरी होने के कारण ग्रामीण काफी परेशान थे. ऐसे में रात में ग्रामीणों द्वारा पहरा भी दिया गया. उसके बावजूद भी जब जानवरों की चोरी नहीं रुकी. तब गांव के प्रधान ने पूरे गांव में 24 घंटे निगरानी के लिए सीसीटीवी कैमरे लगवा दिए हैं.

    <b>40 से ज्यादा लगे, 80 लगाने का लक्ष्य</b>
    ग्राम प्रधान अजहर आजाद ने बताया कि गांव में अब तक 40 नाइट डिवीजन सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं. उन्होंने बताया कि उन्हें गांव के सभी ऐसे स्थानों का चयन किया है. जिनसे नजर रखी जा सकती है. लगभग 80 से ज्यादा कैमरे लगाए जाएंगे .ताकि गांव में हो रही चोरियों को रोका जा सके. कैमरे को इतनी ऊंचाइयों पर लगाया जा रहा है. जिससे चोरी करने वाले किसी भी तरीके से कैमरे को नुकसान भी ना पहुंचा सकें.

    <b>पीएम की डिजिटल इंडिया मुहिम के मुरीद हैं गांव प्रधान</b>
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जिस तरीके से डिजिटल इंडिया और डिजिटल गांव की मुहिम शुरू की गई है.उसी से प्रभावित होकर ग्राम प्रधान ने सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रयास किया है. जिससे कि उनका यह गांव अन्य गांव के लिए एक प्रेरणा बन सके.

    <b>सीसीटीवी कैमरे लगने के बाद रुकी जानवरों की चोरी</b>
    ग्रामीणों ने बताया कि गांव में आए दिन भैंस चोरी होती रहती थी. लेकिन जब से गांव में सीसीटीवी कैमरे लगाने शुरू हुए हैं.उसके बाद से चोरी होना बंद हो गई है.साथ ही प्रत्येक चौराहे पर एक कंट्रोल रूम भी बनाया गया है. जिसमें हार्डडिस्क चोरी ना हो. इसीलिए पास में ही कंट्रोल रूम बनाया गया है. इसको भी विशेष लॉकर में रखा गया है. जिसकी एक चाबी प्रधान और एक हार्ड डिक्स वाले के घर पर रहेगी.

    रिपोर्ट: विशाल भटनागर
    मेरठ

    Tags: मेरठ

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर