देश का सबसे कम उम्र का निशानेबाज बना मेरठ का शपथ
Meerut News in Hindi

देश का सबसे कम उम्र का निशानेबाज बना मेरठ का शपथ
खेलों की दुनिया में मेरठ ने एक बार फिर करिश्मा कर दिखाया है. मेरठ के रहने वाले चौदह साल के डबल ट्रैप शूटर शपथ भारद्वाज राष्ट्रीय टीम में शामिल होने वाले देश के सबसे कम उम्र के निशानेबाज बन गए हैं.

खेलों की दुनिया में मेरठ ने एक बार फिर करिश्मा कर दिखाया है. मेरठ के रहने वाले चौदह साल के डबल ट्रैप शूटर शपथ भारद्वाज राष्ट्रीय टीम में शामिल होने वाले देश के सबसे कम उम्र के निशानेबाज बन गए हैं.

  • Share this:
खेलों की दुनिया में मेरठ ने एक बार फिर करिश्मा कर दिखाया है. मेरठ के रहने वाले चौदह साल के डबल ट्रैप शूटर शपथ भारद्वाज राष्ट्रीय टीम में शामिल होने वाले देश के सबसे कम उम्र के निशानेबाज बन गए हैं. उत्तराखण्ड राज्य की तरफ से खेलते हुए इस निशानेबाज ने ये करिश्मा कर दिखाया है. शपथ भारद्वाज अब दिल्ली, मेक्सिको और साइप्रस में होने वाले वल्र्ड कप में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे.

शपथ ने चौदह साल की छोटी उम्र में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दर्जनों पदक जीते हैं. लेकिन इस होनहार खिलाड़ी की पीठ थपथपाने वाला कोई नहीं. शपथ को कहीं से कोई मदद नहीं मिली. न उत्तराखण्ड सरकार की तरफ से और न ही उत्तरप्रदेश सरकार की तरफ से लेकिन फिर भी वो कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ता जा रहा है.

शपथ ने सीनियर डबल ट्रैप में क्वालीफाई करने वाले देश में सबसे कम उम्र का जूनियर खिलाड़ी हैं. उन्होंने फिनलैंड में हुए 8वें इंटरनेशनल शॉटगन कप में टीम की ओर से सर्वाधिक स्कोर किया. जर्मनी में हुई जूनियर वल्र्ड कप में भारतीय टीम के सबसे कम उम्र के सदस्य रहे. इससे पहले केरल में 35वें नेशनल गेम्स में 13 वर्ष में प्रदेश का प्रतिनिधित्व करने का रिकार्ड बनाया. जूनियर नेशनल टीम स्कवॉड में 12 वर्ष की उम्र में शामिल होने वाला देश का सबसे कम उम्र का खिलाड़ी रहे, यही नहीं 12 वर्ष की उम्र में ही उत्तराखंड स्टेट चैंपियन बने.



मेरठ के सेंट मेरीज एकेडमी में कक्षा नौ के छात्र शपथ भारद्वाज सीनियर वर्ग में महज 14 साल की आयु में ही राष्ट्रीय टीम में शामिल होने वाले देश के सबसे कम उम्र के निशानेबाज हैं. निशानेबाजी के डबल ट्रैप में शपथ का चयन नेशनल टीम में हो गया है.



पंजाब के पटियाला शहर में 18 से 24 दिसंबर के दौरान वल्र्ड कप के लिये सीनियर नेशनल टीम के ट्रायल संपन्न हुए. शपथ ने पहले ट्रायल में 122/150 का स्कोर किया. दूसरे ट्रायल में वापसी करते हुए उन्होंने 136/150 का स्कोर कर दूसरा स्थान पक्का कर लिया.

अपने प्रदर्शन से शपथ बेहद खुश हैं लेकिन कहते हैं कि अगर सरकारें उसकी मदद करें तो वो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर और अच्छा परफॉर्म कर सकते हैं. नवंबर में जयपुर में संपन्न हुई 60वीं नेशनल शूटिंग चैंपिनयनशिप में शपथ ने 136/150 का स्कोर बनाकर जूनियर वर्ग में द्वितीय और सीनियर वर्ग में तृतीय रैंक हासिल की थी.

बेटे की कामयाबी से पैरेन्ट्स की ख़ुशी का ठिकाना नहीं है. शपथ की मां का कहना है कि अगर राज्यों की तरफ से शपथ को मदद मिल जाए तो ये खिलाड़ी ओलम्पिक में भारत को गौरवान्वित करेगा. और विदेशी धरती पर देश का तिरंगा शान से फहराएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading