Assembly Banner 2021

Meerut News: गेहूं क्रय केंद्र पर इस बार हाईटेक व्‍यवस्‍था, खोले गए हैं 40 क्रय केंद्र

गेहूं क्रय केन्द्रों पर सुबह 09.00 बजे से सांय 06.00 बजे तक गेहूं क्रय किया जायेगा.

गेहूं क्रय केन्द्रों पर सुबह 09.00 बजे से सांय 06.00 बजे तक गेहूं क्रय किया जायेगा.

मेरठ संभाग में गेहूं खरीद के लिए 40 क्रय केंद्र बनाए गए हैं. इस बार यहां इलेक्‍ट्रॉनिक तराजू पर ही तौल करने का निर्देश दिया गया है.

  • Share this:
मेरठ. गेहूं क्रय केन्द्र (Wheat Purchasing Center) पर इस बार इतनी हाईटेक व्यवस्था की गई है कि बिचौलए का खेल खत्म हो जाएगा. मेरठ सम्भाग के सभी 6 ज़िलों में इस बार प्वाइंट ऑफ परचेज़ मशीन से गेहूं की खरीद हो रही है. संभागीय विपणन अधिकारी (मेरठ संभाग) दिनेश चन्द्र मिश्र (Dinesh Chandra Mishra) का कहना है कि इस हाईटेक व्यवस्था से बिचौलिए का खेल समाप्त हो जाएगा. उन्होंने कहा कि गांवों से भी केन्द्रों का संबद्धीकरण किया गया है और गूगल मैप (Google Map) के सहारे भी किसान गेहूं क्रय केन्द्र तक पहुंच सकते हैं. किसानों को कोई समस्या न हो इसे देखते हुए पंचायत चुनाव के दिन भी गेहूं क्रय केन्द्र खुले रहेंगे. मेरठ संभाग में मेरठ 276 गेहूं क्रय केन्द्रों का लक्ष्य है, जबकि 1 अप्रैल से 15 जून तक गेहूं क्रय केन्द्र संचालित रहेंगे.

मेरठ के जिलाधिकारी के बालाजी ने गेहूं क्रय केन्द्रों का निरीक्षण किया. उन्होने कहा कि 1 अप्रैल 2021 से गेहूं क्रय शासन के निर्देषो के क्रम में सभी क्रय केन्द्रों पर प्रारंभ हो गई है जो आगामी 15 जून 2021 तक चलेगी. डीएम ने कहा कि सभी गेहूं क्रय केन्द्रों पर किसानों के लिए तिरपाल, पानी, सैनिटाइजर/साबुन आदि की व्यवस्था होगी. साथ ही हर क्रय केन्द्र पर इलेक्‍ट्रॉनिक कांटे से ही गेहूं क्रय किया जाएंगे.

जिलाधिकारी ने गेहूं क्रय के लिए बनाए गए क्रय केन्द्रों का निरीक्षण किया. उन्होंने रामराज में भारतीय खाद्य निगम, यूपीएसएस के क्रय केन्द्र, हस्तिनापुर में पीसीएफ और यूपीएसएस के क्रय केन्द्र, परीक्षितगढ़ में पीसीएफ के क्रय केन्द्र सहित विभिन्न क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया. जि़लाधिकारी ने यहां कांटे को जांचा और निर्देशित किया कि हैंडलिंग और परिवहन ठेकेदार की नियुक्ति जल्द से जल्द सुनिश्चित की जाए.



40 क्रय केंद्र
गेहूं क्रय केन्द्रों पर गेहूं का क्रय 1975 रुपये प्रति क्विंटल की दर से किया जा रहा है. किसानों को पीएफएमएस के माध्यम से गेहूं क्रय की धनराशि सीधे उनके बैंक खातो में भेजी जाएगी. मेरठ की बात की जाए तो यहां 40 गेहूं क्रय केन्द्र बनाये गये हैं, जिनमें एफसीआई के 3, खाद्य विभाग के 12, पीसीएफ के 15, यूपीएसएस के 9 और मंडी समिति लोहियानगर का 1 गेहूं क्रय केंद्र है.

9 घंटे तक खुला रहेगा गेहूं क्रय केंद्र
गेहूं क्रय केन्द्रों पर सुबह 9.00 बजे से शाम 6.00 बजे तक गेहूं क्रय किया जायेगा. यदि किसी किसान का गेहूं क्रय केन्द्र के समाप्ति समय पर किया जा रहा है तो उनका गेहूं क्रय करने के उपरांत ही क्रय केन्द्र बंद कराया जायेगा. गेहूं क्रय केन्द्रों पर किसानों को कोई परेशानी न हो इसके लिए सभी व्यवस्थाएं की गई हैं. जनपद में गेहूं का रकबा करीब 87 हजार हेक्टेयर है और प्रत्येक हेक्टेयर में औसतन 48.98 क्विंटल गेहूं उत्पादन होता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज