होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Meerut: मेरठ में इस बार लगाए जाएंगे 30 लाख पौधे, वन विभाग जियो टैगिंग से करेगा देखभाल

Meerut: मेरठ में इस बार लगाए जाएंगे 30 लाख पौधे, वन विभाग जियो टैगिंग से करेगा देखभाल

Tree Plantation Campaign in Meerut: इस बार पौधारोपण अभियान को लेकर मेरठ वन विभाग ने खास तैयारी की है. मेरठ डीएफओ राजेश कुमार ने बताया कि विभाग द्वारा जियो टैगिंग कराई जा रही है. इसके लिए एक हरीतिमा अमृत वन ऐप बनाया गया है.

    रिपोर्ट: विशाल भटनागर

    मेरठ. हर वर्ष की तरह इस बार भी पौधारोपण अभियान (Tree Plantation Campaign) वन विभाग ने शुरू कर दिया है. मेरठ की बात की जाए तो 30 लाख 58 हजार पौधे इस बार विभिन्न क्षेत्रों में रोपे जाएंगे, लेकिन अबकी बार यह अभियान सिर्फ पौधारोपण तक सीमित नहीं रहेगा. दरअसल कितने पौधों ने पेड़ का रूप लिया, इसके लिए भी वन विभाग द्वारा लगातार मॉनिटरिंग की जाएगी. वन विभाग द्वारा टीम तैयार कर दी गई है, जो पौधारोपण के दौरान रोपे गए पौधों पर विशेष नजर रखेगी.

    मेरठ डीएफओ राजेश कुमार ने News18 लोकल की टीम से खास बातचीत करते हुए बताया कि विभाग द्वारा जियो टैगिंग कराई जा रही है. इसके लिए एक हरीतिमा अमृत वन ऐप (Haritima Amrit van app) बनाया गया है. जहां वन विभाग द्वारा विभिन्न एनजीओ और विभागों के साथ मिलकर पौधारोपण किया जा रहा है, वहां पर जियो टैगिंग करते हुए जीपीएस सिस्टम के साथ एक फोटो इस ऐप पर अपलोड किया जा रहा है, ताकि समय-समय पर पौधे की निगरानी की जा सके.

    पौधारोपण का औचक निरीक्षण भी करेगी वन विभाग की टीम
    अभियान के दौरान जिन स्थानों पर भी पौधे लगाए जा रहे हैं. वहां जीपीएस सिस्टम के तहत जियो टैगिंग की जा रही है जिससे वन विभाग के पास लोकेशन रहे. इस लोकेशन को ट्रेस करते हुए वन विभाग की टीम द्वारा समय-समय पर निरीक्षण किया जाएगा. अगर पौधे को किसी भी प्रकार के तत्व की आवश्यकता है, तो उसकी पूर्ति भी की जाएगी. साथ ही पौधारोपण अभियान के दौरान रोपे गए कितने पौधे पेड़ का आकार ले चुके हैं, उसका भी आंकड़ा वन विभाग द्वारा ऐसे ही एकत्रित किया जाएगा.

    पौधे लगाने के साथ जिम्मेदारी भी उठाएं
    वन विभाग की टीम ने विभाग और एनजीओ से अपील भी की है, जो भी पौधारोपण अभियान में सहभागिता निभा रहे हैं. वह सिर्फ अभियान तक सीमित ना रहें बल्कि जिन क्षेत्रों में वह पौधे लगवा रहे हैं, वहां पर्याप्त रूप में पौधों को पानी एवं आवश्यक तत्व मिलें उसका भी भरपूर ध्यान रखें. यही कारण है कि पौधरोपण करते समय अबकी बार स्कूल, कॉलेज, पंचायत, विश्वविद्यालय सहित ऐसे स्थानों का ही चयन किया जा रहा है, जहां पर उनकी देखभाल अच्छे से की जा सके.

    Tags: Forest department, Meerut news, Plantation

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर