लाइव टीवी
Elec-widget

नेताजी का अद्भुत ज्ञान, बोले- खाद्य पदार्थों में मिलावट से हो सकती हैं 200 बीमारियां!

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 11, 2019, 5:34 PM IST
नेताजी का अद्भुत ज्ञान, बोले- खाद्य पदार्थों में मिलावट से हो सकती हैं 200 बीमारियां!
मिलावटखोरी को लेकर मुख्यमंत्री से भी बात करेंगे-सैनी

उत्तर प्रदेश विधान परिषद (Uttar Pradesh Legislative Council) की खाद्य पदार्थों में मिलावट और नकली दवाओं के प्रचलन से जनजीवन की स्वास्थ्य समस्याओं पर रोकथाम के लिए बनी समिति के चेयरमैन साहब सिंह सैनी (Sahab Singh Saini) ने कहा कि मिलावट से दो सौ से अधिक बीमारियां हो सकती हैं.

  • Share this:
मेरठ. उत्‍तर प्रदेश के नेताजी ने अद्भुत ज्ञान दिया है. उनका कहना है कि खाद्य पदार्थों में मिलावट से टीबी (Tuberculosis), मलेरिया और एड्स (AIDS) से भी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं. जी हां, उत्तर प्रदेश विधान परिषद (Uttar Pradesh Legislative Council) की खाद्य पदार्थों में मिलावट और नकली दवाओं के प्रचलन से जनजीवन की स्वास्थ्य समस्याओं पर रोकथाम के लिए बनी कमिटी के चेयरमैन साहब सिंह सैनी (Sahab Singh Saini) ने कहा कि मिलावट से दो सौ से अधिक बीमारियां हो सकती हैं. डबल्यूएचओ (WHO) की रिपोर्ट का हवाला देते हुए समिति के चेयरमैन ने कहा कि मिलावट की वजह से एचआईवी से भी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं. सैनी के इस बयान से मीटिंग में मौजूद सभी लोग हंसने लगे. हालांकि बाद में वो एचआईवी जैसी बीमारी का ज़िक्र करने पर सफाई देते हुए नज़र आए.

साहब सिंह सैनी का ज्ञान
खाद्य पदार्थों में मिलावट की समस्या को लेकर मेरठ में आज यूपी विधान परिषद की खाद्य पदार्थों में मिलावट से जनजीवन की स्वास्थ्य समस्याओं पर रोकथाम के लिए बनी समिति ने दौरा किया. समिति के चेयरमैन साहब सिंह सैनी ने इस दौरान खाद्य विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए. हालांकि इस दौरान मिलावटखोरी पर सरकार को कोसते-कोसते नेताजी एड्स जैसी बीमारी की भी बात करने लगे. उन्होंने डब्लयूएचओ की रिपोर्ट का हवाला देते देते यहां तक कह दिया कि मिलावट की वजह से टीबी, मलेरिया और एड्स से भी गंभीर बीमारी हो सकती है.

मिलावट से होने वाली बीमारियों का ज़िक्र करते करते एचआईवी की बात करने वाले नेताजी पत्रकारों के सवाल से उनका मूड इतना खराब हो गया कि उन्होंने खाद्य विभाग के साथ होने वाली मीटिंग ही कैंसिल कर दी. उधर नेताजी के इस बयान पर कि खाद्य पदार्थों में मिलावट से टीबी, मलेरिया और एड्स से भी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं. इस मामले पर मेरठ के सीएमओ का कहना है एचआईवी या एड्स होने के कारण बिलकुल अलग हैं. हालांकि नेताजी के बयान पर वो प्रोटोकॉल का हवाला देने लगे.

दूध को लेकर मंत्री ने कही ये बात
खाद्य पदार्थों में मिलावट की रोकथाम के लिए बनी समिति के चेयरमैन ने कहा कि वो मिलावटखोरी को लेकर मुख्यमंत्री से भी बात करेंगे. उन्‍होंने कहा कि मिलावट की वजह से आने वाली पीढ़ी के साथ खिलवाड़ हो रहा है और ज़रुरत पड़ी तो वो सदन में भी इस मुद्दे को उठाएंगे, क्योंकि मिलावट महामारी हो गई है. साहब सिंह सैनी ने कहा कि 68 फीसदी से ज्यादा दूध नकली बिक रहा है और अगर यही हाल रहा तो आने वाले आठ साल में 87 प्रतिशत जनता कैंसर से पीड़ित होगी. ये पूछे जाने पर कि जब हालात इतने खराब हैं, तो एक्शन क्यों नहीं लिया जाता. समिति के सदस्य ये कहकर बात को टाल देते हैं कि उनका ये पहला दौरा है. आगे-आगे देखिए होता है क्या!

ये भी पढ़ें:
Loading...

UPPCL पीएफ घोटाला: DHFL के चेयरमैन बोले- बिजली कर्मियों का पाई-पाई चुकाएंगे

Ayodhya Verdict: महंत नरेंद्र गिरी बोले-ओवैसी भारत और हिंदुओं के खिलाफ उगलते हैं जहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 3:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...