होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /मेरठ में जब मुस्लिम महिलाओं ने गाया...जो राम को लाए हैं, हम उनको लाएंगे...

मेरठ में जब मुस्लिम महिलाओं ने गाया...जो राम को लाए हैं, हम उनको लाएंगे...

'जो राम को लाए हैं हम उनको लाएंगे, यूपी में हम फिर से भगवा लहराएंगे...'

'जो राम को लाए हैं हम उनको लाएंगे, यूपी में हम फिर से भगवा लहराएंगे...'

Meeut News: शहर में महिला मोर्चा के कार्यक्रम में पहुंचीं मुस्लिम महिलाएं बार-बार एक गीत गा रही थीं. इस गीत के बोल थे ' ...अधिक पढ़ें

मेरठ. मेरठ में हाल ही एक कार्यक्रम के दौरान मुस्लिम महिलाओं का गाया एक गीत चर्चा का विषय बन गया. इसके बोल ने वहां मौजूद सब लोगों को अचंभित कर दिया. दरअसल शहर में महिला मोर्चा के कार्यक्रम में पहुंची मुस्लिम महिलाएं बार—बार एक गीत गा रही थीं. इस गीत के बोल थे ‘जो राम को लाए हैं हम उनको लाएंगे, यूपी में हम फिर से भगवा लहराएंगे…’. इस कार्यक्रम के दौरान मुस्लिम महिलाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करती नज़र आईं. मुस्लिम समुदाय की महिलाओं का यूं भगवा की तारीफ करना सभी के लिए चर्चा का विषय बन गया.

महिलाओं का कहना था कि वे सबसे ज्यादा खुश इस बात से हैं कि कोरानाकाल में उन्हें फ्री राशन दिया गया. उज्जवला योजना से भी महिलाएं खुश नजर आईं. भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री दीप्ति रावत भी इस कार्यक्रम में पहुंची. दीप्ति रावत ने कहा कि यूपी में कुछ राजनीतिक पार्टियां पॉलिटिकल टूरिज्म करती हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे तो ये राजनीतिक पार्टियां कहीं नजर नहीं आतीं लेकिन जब चुनाव आते हैं तो बरसाती मेढ़क की तरह नजर आने लगती हैं. दीप्ति रावत ने कहा कि भाजपा हर वक्त चुनाव के लिए तैयार रहती है और जनता के बीच रहती है. उन्होंने कहा प्रियंका गांधी की पार्टी यूपी में खाता भी नहीं खोल पाएगी. वहीं, अखिलेश यादव अगर लॉ एंड ऑर्डर की बात करते हैं तो हंसी आती है.

आधी आबादी बढ़ी है

आपके शहर से (मेरठ)

भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री ने कहा कि नए सेंसस में महिलाओं की संख्या बढ़ी हैं. एक हजार पुरुषों के मुकाबले अब आधी आबादी की संख्या एक हजार बीस हो गई है. जो एक शुभ सूचकांक है. उन्होंने बताया कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और महिलाओं को स्वावलंबी करने जैसी योजना से ही ऐसा संभव हो सका है. महिलाओं की शादी की उम्र अट्ठारह से बढ़ाकर इक्कीस वर्ष किए जाने की कवायद पर उन्होंने कहा कि अगर लड़कियां लड़कों की बराबरी कर रही हैं तो किसी को दिक्कत क्यों हो रही है? अगर ल़ड़कों की शादी की उम्र इक्कीस वर्ष है तो फिर लड़कियों की क्यों न हो?

Tags: Meerut city news, UP Assembly Election, UP BJP

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें