होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /नेकी की दीवार: मकसद था गरीबों की मदद करना, खुद ही अव्यवस्था का हो गई शिकार

नेकी की दीवार: मकसद था गरीबों की मदद करना, खुद ही अव्यवस्था का हो गई शिकार

Meerut News: मेरठ में विक्टोरिया पार्क के पास नगर निगम और द ग्रोइंग प्यूपिल संस्था ने मिलकर नेकी की दीवार बनाई थी, लेकि ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- विशाल भटनागर

मेरठ. गरीब लोगों की भलाई के उद्देश्य से मेरठ विक्टोरिया पार्क के पास में शुरू की गई नेकी की दीवार का सिलसिला कहीं ना कहीं अब अव्यवस्था का शिकार होते हुए दिखाई दे रहा है. दरअसल हम यह बात इसलिए कह रहे हैं क्योंकि नगर निगम और द ग्रोइंग प्यूपिल संस्था के माध्यम से जो विक्टोरिया पार्क के पास नेकी की दीवार बनाई गई थी. वहां बस पोस्टर लगाकर खानापूर्ति कर दी गई.

NEWS 18 LOCAL से बात करते हुए स्थानीय लोगों ने नगर निगम की पहल का तो स्वागत किया, लेकिन नेकी की दीवार दुर्दशा को देखकर सब हैरान हैं. यही नहीं, स्‍थानीय लोग लेकर नेकी की दीवार को लेकर नगर निगम और संस्‍था पर सवाल भी खड़े कर रहे हैं.

आपके शहर से (मेरठ)

बॉक्स की व्यवस्था की मांग
नेकी की दीवार के पास लोग बॉक्स की व्यवस्था करने की मांग कर रहे हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि नगर निगम को वहां पर विशेष रूप से बॉक्स की व्यवस्था करनी चाहिए, जिससे दान करने वाले और लेने वाले दोनों लोगों को किसी भी प्रकार की अव्यवस्था से परेशान ना होना पड़े. दरअसल अभी जिस प्रकार की वहां पर व्यवस्था है. कोई भी अपने कपड़े रखना नहीं चाहेगा और ना ही कोई वहां से लेना चाहेगा.

बॉक्स की होगी उचित व्यवस्था
मेरठ नगर आयुक्त अमित पाल शर्मा का कहना है कि नेकी की दीवार गरीब लोगों की मदद करने के उद्देश्य से एक प्रयास है. जनता की मांग को देखते हुए वहां पर बॉक्स रखे जाएंगे, ताकि जो भी कपड़े दान करना चाहते हैं उन बॉक्स में अपने कपड़े उकर सकते हैं. इससे गरीब से गरीब लोगों की मदद हो सके. बता दें कि मार्च 2022 में सामाजिक संस्था द ग्रोइंग प्यूपिल व निगम के संयुक्त तत्वाधान में इस दीवार का निर्माण किया था, जिस पर एक बड़ा फ्लेक्स लगाकर लोगों से गरीब लोगों की मदद की अपील की गई थी.

Tags: Meerut news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें