Home /News /uttar-pradesh /

OMG ! कद केवल डेढ़ फीट लेकिन हौसला है बुलंद, सरकार की नाक में कर दिया है दम

OMG ! कद केवल डेढ़ फीट लेकिन हौसला है बुलंद, सरकार की नाक में कर दिया है दम

मेरठ में डेढ़ फीट के नेताजी मोहम्मद मोहसिन ने दिव्यांगों के हक में सरकार से मोर्चा लेने शुरुआत की है.

मेरठ में डेढ़ फीट के नेताजी मोहम्मद मोहसिन ने दिव्यांगों के हक में सरकार से मोर्चा लेने शुरुआत की है.

UP Divyang movement: मेरठ में एक डेढ़ फीट के नेताजी दिव्यांगों के हक में सरकार से टक्कर ले रहे हैं. दिव्यांगों के लिए शुरू किए गए इस आंदोलन में कोई अपने पैर पर ठीक से खड़ा नहीं हो पा रहा था तो कोई व्हील चेयर से आया था. लेकिन वह सरकार को अपनी मांगों को लेकर ताकत दिखाने को तैयार हैं.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. आंदोलन तो कई देखे होंगे, लेकिन ऐसा आंदोलन कभी नहीं देखा होगा. जिसमें डेढ़ फीट के नेता जी अपने समाज के लिए आवाज बुलंद कर रहे हों. इस आंदोलन में कोई अपने पैर पर ठीक से खड़ा नहीं हो पा रहा था, कोई व्हील चेयर से आया था तो कोई जमीन पर घिसटते हुए. दिव्यांग संगठन के एक वरिष्ठ सदस्य जिसकी लम्बाई बमुश्किल डेढ़ फीट ही होगी, लेकिन हौसला गजब का है. इस दिव्यांग शख्स के न तो हाथ ठीक से काम करते हैं और न पैर, लेकिन से अपने जैसे हजारों लोगों की आवाज बुलंद कर रहे हैं.

इनका हौसला देखकर और दिव्यांग साथी भी जो़श और जज्बे से भर गए हैं. दिव्यांग संगठन मेरठ के सदस्य मोहम्मद मोहसीन सिर्फ अपनी ही आवाज बुलंद नहीं कर रहे हैं, बल्कि ये अपने संगठन के नेता हैं. जब मोहम्मद साहब मंच पर पहुंचे तो और दिव्यांग साथियों ने इनके जज्बे और जुनून को देखते हुए इन्हें फूल मालाओं से लाद दिया. मोहम्मद मोहसीन का हौसला और बढ़ गया और जब दिव्यांगों के सामने डेढ़ फीट के नेताजी ने अपना भाषण दिया.

दरअसल, मेरठ के चौधरी चरण सिंह पार्क में दिव्यांगों ने अपनी आवाज बुलंद की. इन दिव्यांगों ने मांग की कि दिव्यांग आयोग का गठन हो जिसमें सभी दिव्यांग जनों को ही कार्यरत किया जाये. दिव्यांग और दिव्यांगों पर आश्रितों को सभी प्रकार की शिक्षा तकनीकी, मेडिकल, अकादमिक वोकेशनल प्राईमरी से लेकर रिसर्च तक की पूर्ण शिक्षा निःशुल्क हो. दिव्यांग जनों की भर्ती दिव्यांग आयोग के माध्यम से हो. सभी बैकलाक रिक्तियों को एक निर्धारित बोर्ड के माध्यम से शीघ्र भर्ती किया जाए.

दिव्यांगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए दुकान संचालन या व्यवसाय के लिए, 1 लाख रुपये से लेकर 10 लाख तक की ऋण राशि बहुत कम वार्षिक ब्याज पर दी जाए, दिव्यांगों की पेंशन कम से कम 5000 प्रतिमाह की जाए. इसके साथ ही UDID कार्ड को आयुष्मान कार्ड की तरह विकलांगों व उनके परिवार की चिकित्सा हेतु लागू किया जाये. इन दिव्यांगों का कहना है कि उनसे वोट तो हर पार्टी ले लेती है लेकिन उनकी स्थिति जस की तस बनी हुई है. इसलिए वह अपनी मांगों को लेकर आवाज बुलंद कर रहे हैं.

Tags: Divyang leader, Divyang movement, Meerut news, UP news, व‍िधानसभा चुनाव 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर