Home /News /uttar-pradesh /

किराया कम-सुविधाओं में दम, मेरठ की सड़कों पर उतरीं हाईटेक बसें, मुसाफिरों को नए साल का तोहफा

किराया कम-सुविधाओं में दम, मेरठ की सड़कों पर उतरीं हाईटेक बसें, मुसाफिरों को नए साल का तोहफा

 नए साल में शहर में नई हाईटेक बसें शुरू की गई हैं.

नए साल में शहर में नई हाईटेक बसें शुरू की गई हैं.

High-tech traveling in Meerut: बस के अंदर कई तरह की हाईटेक सुविधाओं को जोड़ा गया ताकि यात्रियों को आराम महसूस हो सके. साथ ही सुरक्षा व्यवस्था का भी ध्यान रखा गया है. बस के अंदर कैमरा और पैनिक बटन की सुविधाएं भी हैं. साथ ही कंट्रोल रूम से इन बसों की हर गतिविधि मॉनिटर की जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

    मेरठ. शहर को अब प्रदूषण फैलाने वाली बसों से निजात मिल जाएगी. खटारा और पुरानी बसों से अब शहर को निजात मिल रही है. दरअसल नए साल में शहर में नई हाईटेक बसें शुरू की गई हैं. मेरठवासियों को पचास बैटरी ऑपरेटेड बसों का गिफ्ट मिला है.

    जीपीएस और आईटीएमएस यानी इंटेलिजेंस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम से लैस इन एसी बसों की ख़ासियत ये है कि इसका किराया ई रिक्शा का होगा और सुविधाएं बिलकुल वॉल्वो जैसी. किराया लिस्ट के मुताबिक तीन किलोमीटर तक का सफर इस एसी इलेक्ट्रिक बस में मात्र दस रुपए में किया जा सकेगा. तीन से छह किलोमीटर का सफर 15 रुपए. छह से दस किलोमीटर का सफर बीस रुपए. 10 से 14 किलोमीटर का सफर 25 रुपए. 14 से 14 किलोमीटर का सफर 30 रुपए. 19 से 24 किलोमीटर का सफर 35 रुपए. 24 से 30 किलोमीटर का सफर 40 रुपए. 30 से 36 किलोमीटर का सफर 45 रुपए और 36 से 42 किलोमीटर का सफर 50 रुपए में किया जा सकेगा.

    कंट्रोल रूम से मॉनिटरिंग

    बस के अंदर कई तरह की हाईटेक सुविधाओं को जोड़ा गया ताकि यात्रियों को आरामदायक महसूस हो सके. साथ ही सुरक्षा व्यवस्था का भी ध्यान रखा गया है. बस के अंदर कैमरा और पैनिक बटन की सुविधा के साथ कंट्रोल रूम से हर गतिविधि मॉनिटर की जाएगी. एक हफ्ते के अंदर मेरठ में 50 हाईटेक बसें चलेंगी.

    रोडवेजट के आरएम के के शर्मा का कहना है ये बसों को इतना शानदार बनाया गया है कि लोग कार छोड़कर इससे सफर करना पसंद करेंगे. बस के सस्पेंशन हवा से निर्धारित होते हैं और गाड़ी में पांच कैमरे लगे हुए हैं. गाड़ी ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम से लैस है. आने वाले स्टॉप के पहले ही एनाउंसमेंट हो जाएगा कि कौन सा चौराहा आने वाला है. कंट्रोल रूम के जरिए गाड़ी 24 घंटे ट्रैक की जा सकेगी. अगर ड्राइवर सही से बस नहीं चला रहा है तो इसकी जानकारी भी कंट्रोल रूम को मिल जाएगी.

    Tags: Buses, Technology

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर