Assembly Banner 2021

UP Panchayat Elections 2021: हिंसा फैलाने वालों के लिए पुलिस कर रही खास तैयारी, 1632 लोगों की लिस्‍ट तैयार

पुलिस ने पंचायत चुनाव के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंसा को रोकने के लिए पुख्ता प्लान तैयार कर रही है.

पुलिस ने पंचायत चुनाव के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंसा को रोकने के लिए पुख्ता प्लान तैयार कर रही है.

पुलिस ने पंचायत चुनाव के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंसा को रोकने के लिए पुख्ता प्लान तैयार कर रही है. इसके लिए तीन जिलों के 1632 लोगों को चिन्हित किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2021, 8:01 AM IST
  • Share this:
मेरठ. पंचायत चुनाव में हिंसा की घटनाओं से निपटने के लिए पुलिस ने खास तैयारी की है. मेरठ, बागपत और मुजफ्फरनगर जिले में शातिर लोगों पर कार्रवाई की जा रही है. पुलिस ने तीनों जिलों में ऐसे 1632 लोग चिह्नित किए हैं. पंचायत चुनाव के संभावित प्रत्याशी अपने-अपने दावे ठोक रहे हैं. पुलिस को इस तरह का इनपुट मिल रहा है कि मेरठ, बागपत और मुजफ्फरनगर में हिंसा हो सकती है. बागपत में पहले ही कई लोगों की हत्या हो चुकी है.

एडीजी ने मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर, बागपत, गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए हैं कि पंचायत चुनाव में हिंसा कराने वालों को चिह्नित किया जाए. बागपत में 632, मेरठ में 518, मुजफ्फरनगर में 482 को लोगों की सूची बना ली गई है. इन पर 110 G की कार्रवाई होगी. उनके खिलाफ पहले भी मुचलका पाबंद की कार्रवाई होती रही है. बावजूद इसके वह सुधर नहीं रहे हैं.

इस बार प्रधान और सभी पूर्व प्रधान मुचलके में पाबंद हो रहे हैं. मेरठ जिले में यह कार्रवाई सभी थाना पुलिस द्वारा पूरी कर ली गई है. एसपी देहात का कहना है कि प्रधान और पूर्व प्रधानों पर मुचलके की कार्रवाई हो गई है. अब सभी संभावित प्रत्याशियों पर भी मुचलके पाबंद की कार्रवाई थाने स्तर से कराई जा रही है.



एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि 110 G की कार्रवाई अपराध की पहली श्रेणी है. पंचायत चुनाव या अन्य किसी भी चुनाव में मुचलका पाबंद पुलिस करती है. यह कार्रवाई हिंसा होने के अंदेशे को देखते हुए होती है. 110 G की कार्रवाई चुनाव में बार-बार हिंसा कराने वालों के खिलाफ की जा रही है. इसके बाद ही गुंडा एक्ट व गैंगेस्टर की कार्रवाई सुनिश्चित होती है. एडीजी मेरठ जोन राजीव सभरवाल ने बताया कि पुलिस पहले से ही अलर्ट पंचायत चुनाव को लेकर पुलिस पहले से ही अलर्ट है. शातिर अपराधियों पर गुंडा एक्ट और गैंगेस्टर की भी कार्रवाई की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज