• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Meerut News Bulletin:देखिए मेडिकल में किस तरह भरा है गंदा पानी

Meerut News Bulletin:देखिए मेडिकल में किस तरह भरा है गंदा पानी

मेडिकल

मेडिकल में भरा बरसात का गंदा पानी

जिससे डेंगू के लार्वा को रोका जा सके .वहीं दूसरी ओर मेडिकल में जहां हर रोज सैकड़ों की संख्या में मरीज दिखाने आते है. वहां बरसात का पानी जमा है. पानी की निकासी के लिए कोई व्यवस्था नहीं है. ऐसे में सवाल उठता है क्या इस प्रकार की व्यवस्थाओं से डेंगू का जो मच्छर पनपेगा उसको हम रोक पाएंगे.

  • Share this:

    1:मेरठ-:डेंगू के केस बढ़ते जा रहे हैं. उसको रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सभी लोगों को घर में जमा पानी को बाहर फेंकने के लिए जागरूक किया जा रहा. जिससे डेंगू के लार्वा को रोका जा सके .वहीं दूसरी ओर मेडिकल में जहां हर रोज सैकड़ों की संख्या में मरीज दिखाने आते है. वहां बरसात का पानी जमा है. पानी की निकासी के लिए कोई व्यवस्था नहीं है. ऐसे में सवाल उठता है क्या इस प्रकार की व्यवस्थाओं से डेंगू का जो मच्छर पनपेगा उसको हम रोक पाएंगे.

    2:-भाजपाइयों ने गिनाई सरकार की उपलब्धि
    भारतीय जनता पार्टी जिला मेरठ महानगर की तीनों विधानसभाओं में योगी सरकार के 4.5 साल पूरे होने पर प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया. शहर विधानसभा की पत्रकार वार्ता दिल्ली रोड़ स्थित एक होटल में हुई. जिसमें वक्ता पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ लक्ष्मी कांत वाजपेयी रहे. वहीं कैंट विधानसभा की पत्रकार वार्ता एसजीएम गार्डन निकट जीरो माइलेज लाल कुर्ती में हुई. जिसमें वक्ता कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल ने उपलब्धियों का बखान किया .इसी प्रकार दक्षिण विधायक डॉ सोमेंद्र तोमर ने भी योगी सरकार की अपनी साढ़े 4 साल की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला.

    3:-विद्वत कार्य परिषद की बैठक में लिए गए यह निर्णय
    चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में सोमवार को विद्वत परिषद की एक बैठक ऑनलाइन जूम ऐप के माध्यम से आयोजित हुई. जिसमें निम्नलिखित निर्णय लिए गए. विश्वविद्यालय परिसर स्थित जेनेटिक्स एंड प्लांट ब्रीडिंग विभाग के अलावा वनस्पति विज्ञान विभाग बायो टेक्नोलॉजी सीट साइंस एंड टेक्नोलॉजी एग्रीकल्चर बॉटनी में परास्नातक करने वाले छात्र भी पीएचडी कर सकेंगे व शिक्षक बन सकेंगे. वहीं शासन के निर्देशानुसार सहायक आचार्य सह आचार्य एवं आचार्य पद के लिए चयनित अभ्यार्थियों के नियमों में परिवर्तन किया गया है अब साक्षात्कार में मिले नंबरों के आधार पर ही चयन होगा.  विश्वविद्यालय परिसर के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में चार नए पाठ्यक्रमों के सिलेबस को स्वीकृति मिल गई है.

    4:-बिजली के कट से जनता बेहाल
    बिजली विभाग द्वारा लाख दावे की जाते हो कि उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली व्यवस्था उपलब्ध कराई जाती. लेकिन जमीनी स्तर पर हालात कुछ और ही है. सोमवार को घंटाघर, जागृत विहार, लाल कुर्ती सहित अन्य बिजलीघर से संबंधित क्षेत्रों में बिजली के कट से जनता को काफी परेशानी उठानी पड़ी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज