फिल्म सिटी के बाद CM योगी की एक और सौगात, हस्तिनापुर के लिए इंटीग्रेटेड डेवलेपमेंट प्लान तैयार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला.(File Photo)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा फैसला.(File Photo)

अब पर्यटन विभाग (Tourism Department) हस्तिनापुर के गांव-गांव को विकसित करने की योजनाएं बना रहा है. आने वाले दिनों में अब हस्तिनापुर (Hastinapur) में ऐसी सभी सुविधाएं उपलब्ध होंगी जिसेस पर्यटकों को कोई परेशानी न हो. साथ ही टूरिस्ट यहां आने के लिए आकर्षित होंगे.

  • Share this:
मेरठ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने हाल ही में नोएडा में फिल्म सिटी बनाने का एलान किया था. उन्होंने फिल्म सिटी की घोषणा करते हुए ऐतिहासिक हस्तिनापुर का भी जि़क्र किया. ये भी कहा गया कि अब यहां फिल्म शूटिंग प्वाइंट बनाया जाएगा. न्यूज़ 18 ने हस्तिानपुर (Hastinapur) शीर्षक के जरिए एक कार्य्रक्रम भी टेलिकास्ट किया. इस खबर के बाद अब पर्यटन विभाग मिशन हस्तिनापुर को लेकर जुट गया है. अब पर्यटन विभाग नए सिरे से हस्तिनापुर स्थित द्रोपदी मंदिर, कर्ण मंदिर, पाण्डव मंदिर और गांधारी तालाब के जीर्णोद्धार में जुट गया है. क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी का कहना है कि इस क्षेत्र के विकास के लिए इंटीग्रेटेड डेवलेपमेंट प्लान (Integrated Development Plan) तैयार हो गया है. और बहुत जल्द अब हस्तिनापुर की सूरत बदली बदली नज़र आएगी.

यहीं नहीं क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी का कहना है कि न सिर्फ प्रमुख ऐतिहासिक स्थलों का जीर्णोद्धार होगा बल्कि अब हस्तिनापुर के गांव-गांव में अब विकास की गंगा बहेगी. गांव में मौजूद पर्यटन स्थलों को भी विकसित किया जाएगा. इस बार 27 सितम्बर को वर्ल्ड टूरिज़्म-डे का थीम भी टूरिज़्म और रुरल डेवलेपमेंट रखा गया है.

योजना बनाई जाएगी



गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हस्तिनापुर के विकास को लेकर कृत संकल्पित हैं. उन्होंने कई बार ऐतिहासिक धरती के विकास को लेकर योजनाओं का ख़ाका खींचा है. आने वाले दिनों में अब यहां एएसआई के अधिकारी भी बैठेंगे क्योंकि मेरठ को एएसआई के नए सर्किल का भी तोहफा मिला है. कह सकते हैं कि आने वाले दिनों में अब यहां पर्यटकों को बदला बदला सा हस्तिनापुर नज़र आने वाला है.
सीएम योगी का बड़ा ऐलान

वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रेहड़ी पटरी व्यवसायियों से लेकर एमएसएमई उद्योगों और बड़े उद्योगों के लिए सरकार ने वित्तीय प्रोत्साहन की व्यवस्था की है. जिला प्रशासन बैंकों से समन्वय कर लोगों को ऋण योजनाओं का लाभ दिलाएं. उन्होंने कहा कि 'आत्मनिर्भर भारत' पैकेज के अंतर्गत कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास की असीम संभावनाएं हैं. हर ब्लाक में एफपीओ का गठन करें. गोदामों के लिए प्रस्ताव तैयार करें. उन्होंने कहा कि इसमें देरी करना ठीक नहीं. गो-आश्रय स्थलों को विकसित करें यह आय का जरिया बन सकती हैं. पर्यटन विकास की नवीन संभावनाएं तलाशें. सीएम योगी लखनऊ मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे.

ये भी पढ़ें: डूंगरपुर में फिर हिंसक प्रदर्शन, उपद्रवियों ने जलाई गाड़ी, दुकानों में तोड़फोड़, सागवाड़ा रोड ब्लॉक

लखीमपुर में थारू जनजाति को समाज की मुख्यधारा में लाने के लिए प्रतिबद्धता जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्य में स्वयं सहायता समूहों से मदद ली जाए. उन्होंने कहा कि सभी को शासन की योजनाओं से लाभांवित किया जाए. पात्रों के राशन कार्ड बनाएं, प्रधानमंत्री आवास योजना तथा मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाएं. सीएम योगी ने कहा कि पहली अक्टूबर से धान क्रय केंद्र खुल रहे हैं. कोविड के दृष्टिगत आवश्यक व्यवस्था कर ली जाए. यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी कीमत पर न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम पर खरीद न हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज