Home /News /uttar-pradesh /

number of gangtic dolphins is increasing at record rate was seen playing with children in the ganges nodss

खुशखबरी! रिकॉर्ड तेजी से बढ़ रही है गैंगटिक डॉल्फिन की संख्या, गंगा में बच्चों के साथ अठखेलियां करती आईं नजर

डॉल्फिनों की संख्या बढ़ने के साथ ही वन्य विभाग के अधिकारियों सहित डॉल्फिन प्रेमियों में भी खुशी की लहर है.

डॉल्फिनों की संख्या बढ़ने के साथ ही वन्य विभाग के अधिकारियों सहित डॉल्फिन प्रेमियों में भी खुशी की लहर है.

वन विभाग के अनुसार बिजनौर बैराज से नरौरा बैराज के बीच 40 डॉल्फिन मिली हैं. गणना के दौरान इनके कई बच्चे भी इनके साथ दिखे. इस बार डॉल्फिन की गणना इस पर बिल्कुल नए तरीके से की गई है.

मेरठ. लॉकडाउन के दौरान गंगा की गोद में अटखेलियां करते हुए बड़ी संख्या में डॉल्फिन देखी गई थीं. इस दौरान उनके कई वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे. इस दौरान लोगों का कहना था कि प्रकृति भी लॉकडाउन के दौरान शांति रहने से खुश है. हालांकि इस साल जो गैंगटिक डॉल्फिन के आंकड़े सामने आए हैं वो भी किसी खुशखरबी से कम नहीं है. जिला वन अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि डॉल्फिन की गणना के प्रारम्भिक परिणाम बेहद उत्साहजनक हैं. उन्होंने बताया कि बिजनौर बैराज से नरौरा बैराज तक 40 से ज्यादा डॉल्फिन पाई गई हैं. वन अधिकारी का कहना है कि डॉल्फिन की अच्छी साइटिंग भी देखने को मिली है.

यही नहीं इस खूबसूरत जलीय जीव के बच्चे भी गणना के वक्त देखे गए हैं. डिस्ट्रिक फॉरेस्ट ऑफिसर ने बताया कि डॉल्फिन का हैबिटैट बेहद उत्साहजनक है. गौरतलब है कि डबल्यूआईआई और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने इस सर्वे को किया है. राजेश कुमार ने बताया कि वैज्ञानिक मानते हैं ये एरिया गैंगेटिक डॉल्फिन के लिए बेहद अच्छा है.
डॉल्फिन की गणना के दौरान मेरठ के हस्तिनापुर स्थित मखदूमपुर गंगा घाट पर खूबसूरत डॉल्फिन दिखी थी. आमतौर पर डॉल्फिन की गणना हो जाती है लेकिन तस्वीर कैमरे में कैद नहीं हो पाती लेकिन इस बार डॉल्फिन की काउंटिंग के समय न सिर्फ डॉल्फिन कैमरे में कैद हुई थी बल्कि टीम ने भी इस खूबसूरत जलीय जंतु के साथ सेल्फी ली थी.

नए तरीके से की गई गणना
गौरतलब है कि इस बार बिलकुल नए तरीके से डॉल्फिन की गणना की गई है. गंगा नदी में पाई जाने वाली गंगा डॉल्फिन सुसु जिसे भारतीय एक्वेटिक एनिमल का दर्जा प्राप्त है उसकी साइंटिफिक गणना उत्तर प्रदेश वन विभाग वाइल्डलाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया देहरादून एवं डब्ल्यूडब्ल्यूएफ की संयुक्त 5 टीमें नई पद्धति के आधार पर गणना कर रही थीं. इस साल डायरेक्ट साइटिंग के अलावा तकनीकी यंत्रों का उपयोग कर डॉल्फिन की तरंगों की स्टडी करना एवं इको सोनार इत्यादि तकनीकों से सतह के आसपास भी डॉल्फिन की गणना की गई. मेरठ जनपद में हस्तिनापुर वन्य जीव विहार में बहने वाली गंगा नदी में 5 टीमों में कुल 25 सदस्यों ने डॉल्फिन की गणना साइंटिफिक तौर पर की.

Tags: Dolphin in Ganges River, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर