UP: मेरठ में 'टीका उत्सव' की धूम, बुजुर्ग बोले- संजीवनी बूटी का काम करेगी कोरोना वैक्सीन

मेरठ में 'टीका उत्सव' की धूम

मेरठ में 'टीका उत्सव' की धूम

मेरठ (Meerut) के सीएमओ (CMO) डॉक्टर अखिलेश मोहन का कहना है कि टीका उत्सव का आज पहला दिन है. सोमवार को टीकाकरण के केन्द्र भी बढ़ाए जाएंगे.

  • Share this:
मेरठ. मेरठ. उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh) के मेरठ ( Meerut) में रविवार को कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) जागरुकता को लेकर टीका उत्सव मनाया जा रहा है. इसी कड़ी में मेरठ मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल में सभी लोग टीका लगवाने के लिए बेसब्री से अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए. बुजुर्ग महिलाओं ने भी इस अभियान में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया. जितना उत्साहित टीका लगवाने वाले लोग हैं उतना ही उत्साह स्वास्थ्य कर्मियों में भी देखा जा रहा है. टीका लगवाने के बाद बुजुर्ग महिला ने कहा कि इस संकट की घड़ी में कोरोना वैक्सीन संजीवनी बूटी का काम करेगी. मेरठ के सीएमओ डॉक्टर अखिलेश मोहन का कहना है कि टीका उत्सव का आज पहला दिन है. सोमवार को टीकाकरण के केन्द्र भी बढ़ाए जाएंगे. उन्होंने बताया कि टीका उत्सव में लोग बढ़ चढक़र हिस्सा ले रहे है.

यहीं नहीं मेरठ में टीका उत्सव के पहले कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने वालों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया. सीएमओ डॉक्टर अखिलेश मोहन ने लॉटरी के माध्यम से चुने गए चार लोगों को सम्मानित किया. उन्हें गिफ्ट भी दिए. वैक्सीनेशन को लेकर गिफ्ट पाने वालों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. इन लोगों का कहना है कि जैसे उन्होंने वैक्सीनेशन करवाया है वैसे ही सभी लोग जिनकी पात्रता है वो टीकाकरण अवश्य करवाएं. कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने पर सम्मानित होने वाली डॉक्टर अनुभा त्यागी का कहना है कि टीका उत्सव को लोग किसी फेस्टिवल की तरह सेलिब्रेट करें.

उन्नाव पंचायत चुनाव: BJP ने काटा सजायाफ्ता कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी का टिकट

ज़िला कारागार में ओएसडी के पद पर तैनात डॉक्टर अनुभा त्यागी का कहना है कि वो जेल में भी टीकाकरण का अभियान बेहत तीव्र गति से हो रहा है. पैरा मेडिकल स्टाफ के अन्य सदस्यों को भी टीकाकरण की दोनों डोज़ लगवाने पर सम्मानित किया गया. इन सभी का एक सुर में यही कहना है कि टीकाकरण कराने का उनका अनुभव बेहद शानदार रहा.
11-14 अप्रैल कर मनाया जाएगा टीका उत्सव

गौरतलब है कि प्रदेश में 11 अप्रैल को ज्योतिबा फुले की जयंती से लेकर 14 अप्रैल को बाबा साहब डॉ. बीआर आंबेडकर की जयंती तक टीका उत्सव मनाया जाएगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यह आह्वान कोरोना संक्रमण की स्थितियों की समीक्षा के दौरान किया. उन्होंने कहा कि इस उत्सव में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी लोग बढ़-चढक़र हिस्सा लें. मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर प्रदेश में भी टीका उत्सव का आयोजन किया जाएगा. उन्होंने कोविड अस्पतालों में चिकित्साकर्मियों, दवाओं, उपकरणों, ऑक्सीजन आदि की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखने के निर्देश दिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज