• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • OMG चुनाव से पहले ही मेरठ के एक प्रत्याशी को विधायक अभी से कहने लगे प्रमुख जी

OMG चुनाव से पहले ही मेरठ के एक प्रत्याशी को विधायक अभी से कहने लगे प्रमुख जी

मेरठ ब्लॉक प्रमुख पद पर एकमात्र उम्मीदवार ने दाखिल किया नामांकन.

मेरठ ब्लॉक प्रमुख पद पर एकमात्र उम्मीदवार ने दाखिल किया नामांकन.

प्रत्याशी कपिल की जीत तय मानी जा रही है, क्योंकि मेरठ ब्लॉक में कोई दूसरा नामांकन हुआ ही नहीं है. प्रत्याशी कपिल नामांकन के लिए आज जितने भी लोग साथ पहुंचे, सब उन्हें अभी से प्रमुख जी-प्रमुख जी कहकर ही संबोधित कर रहे थे.

  • Share this:
मेरठ. मेरठ के बारह ब्लॉक प्रमुख पदों पर नामांकन आज यानी गुरुवार को शांतिपूर्वक सम्पन्न हो गए. कहीं एक शख्स ने नामांकन किया और उनका निर्विरोध चुना जाना तय माना जा रहा है, तो कहीं 10 तारीख को मतदान और मतगणना के बाद ब्लॉक प्रमुख चुनाव पद का फैसला होगा.

मेरठ ब्लॉक के लिए आज भाजपा समर्थित प्रत्याशी कपिल ने भी नामांकन किया. प्रत्याशी कपिल इस ब्लॉक में नामांकन करने वाले इकलौते प्रत्याशी हैं, इसलिए उनका चुना जाना तय माना जा रहा है. न्यूज़ 18 से खास बातचीत में कपिल ने बताया कि वे अपने ब्लॉक के गांवों में आईएएस-पीसीएस की तैयारी कर रहे बच्चों के लिए कोचिंग संस्थान खोलना चाहते हैं ताकि उन्हें दिल्ली या फिर दूसरे शहर जाकर परेशान न होना पड़े.

प्रत्याशी कपिल की जीत तय मानी जा रही है, क्योंकि मेरठ ब्लॉक में कोई दूसरा नामांकन हुआ ही नहीं है. प्रत्याशी कपिल नामांकन के लिए आज जितने भी लोग साथ पहुंचे, सब उन्हें अभी से प्रमुख जी-प्रमुख जी कहकर ही संबोधित कर रहे थे. यहां तक कि नामांकन के वक्त मौजूद रहे मेरठ दक्षिण के विधायक डॉक्टर सोमेन्द्र तोमर भी उन्हें प्रमुख जी कहकर ही संबोधित करते रहे. विधायक का कहना है कि उनके चयन में कोई बाधा नहीं है, इसलिए उन्हें उन्होंने प्रमुख कहकर संबोधित किया. विधायक सोमेन्द्र तोमर का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि वे अवश्य जीतेंगे और जनता की अपेक्षाओं पर खरे उतरेंगे.

प्रत्याशी कपिल का कहना है यूपीएससी या फिर एसएसपी की तैयारी कर रहे बच्चों को दूसरे राज्य जाकर रहना पड़ता है. इन बच्चों को किराए का मकान लेना पड़ता है और उन्हें मूलभूत सुविधाओं के लिए खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. इसलिए वे चाहते हैं कि गांवों में ही ऐसे बच्चों के लिए कोचिंग की व्यवस्था हो. ताकि विद्यार्थियों को कम्पटीशन की तैयारी के लिए दूसरे राज्य या फिर शहर जाकर भटकना न पड़े. खुद डबल एमए और एलएलबी कर चुके इस प्रत्याशी का कहना है कि वे खुद भी पढ़े लिखे हैं, इसलिए पढ़ने-लिखने वाले बच्चों की तकलीफों को बखूबी समझते हैं. गांव में मूलभूत सुविधाएं पहुंचाना भी वे अपनी प्राथमिकताओं में अभी से गिनाने लगे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज