अपना शहर चुनें

States

जय हिंद बोलकर तिहाड़ रवाना हुआ पवन जल्लाद, कहा-निर्भया के दोषियों को फांसी पर लटका कर ही लौटूंगा

पवन जल्लाद (File Photo)
पवन जल्लाद (File Photo)

डेथ वारंट (Death Warrant) के मुताबिक 1 फरवरी को निर्भया कांड (Nirbhaya kand) के चारों दोषियों को फांसी दी जानी है. हालांकि फांसी देने की तारीख पर संशय है क्योंकि अभी दो दोषी क्यूरेटिव पीटिशन (curative petition) नहीं डाल पाए हैं. वहीं पवन जल्लाद (Pawan Jallad) का कहना है कि वो इन चारों को फांसी देकर अपने दादा का रिकॉर्ड तोड़ेगा.

  • Share this:
मेरठ. मेरठ का पवन जल्लाद (Pawan Jallad) जय हिंद बोलकर यहां से तिहाड़ के लिए रवाना हुआ था. रवाना होने से पहले उसने कहा था कि अब निर्भया (Nirbhaya) के दोषियों को फांसी पर लटका कर ही लौटूंगा. रवाना होने से पहले पवन जल्लाद ने मेरठ जेल अधीक्षक से 'जय हिंद कहा और बोला कि अब फांसी देकर ही लौटूंगा. तिहाड़ जेल प्रशासन उसे अपनी निगरानी में मेरठ से दिल्ली लेकर गया है.

फांसी की तारीख पर संशय
पटियाला हाउस कोर्ट से जारी डेथ वारंट (Death Warrant) के मुताबिक 1 फरवरी को सुबह छह बजे निर्भया कांड (Nirbhaya kand) के चारों दोषियों को फांसी दी जानी है. हालांकि फांसी देने की तारीख पर संशय इसलिए है क्योंकि अभी दो दोषी क्यूरेटिव पीटिशन नहीं डाल पाए हैं. तिहाड़ जेल के सहायक अधीक्षक दो सुरक्षाकर्मियों के साथ मेरठ जेल पहुंचे थे. यहां वो मेरठ जेल अधीक्षक बीडी पांडे और जल्लाद पवन से मिले. औपचारिक मुलाकात के बाद वे पवन जल्लाद को अपनी निगरानी में दिल्ली ले गए. पवन जल्लाद दोषियों को फांसी देने से पहले तिहाड़ जेल में चारों दोषियों के वज़न के बराबर पुतले बनाकर उन्हें फांसी पर लटकाने का रिहर्सल करेगा.

अपने दादा का रिकॉर्ड तोड़ेगा पवन जल्लाद!
तिहाड़ जाने से पहले news 18 संवाददाता ने पवन जल्लाद से ख़ास बातचीत की. उसने बताया कि वो फांसी देने के मामले में अपने दादा का रिकॉर्ड तोड़ेगा. पवन ने बताया कि उनके दादा ने एक साथ दो लोगों को फांसी के फंदे पर लटकाया था. लेकिन वो चार दोषियों को एक साथ फांसी के फंदे पर लटका कर अपने दादा का रिकॉर्ड तोड़ेगा. पवन ने कहा कि फांसी देने के दौरान वो अपने दादा के साथ पटियाला, इलाहाबाद, आगरा और जयपुर जा चुका है.



एक फरवरी को फांसी होगी या नहीं इन अटकलों के बीच पवन तिहाड़ पहुंच चुका है. तिहाड़ में उसके रहने की व्यवस्था की गई है. यहां पवन को फांसी देने का अभ्यास भी कराया जाएगा. तिहाड़ जेल प्रशासन बक्सर से मंगाई गई रस्सी से पवन जल्लाद को फांसी का अभ्यास कराएगा. इसके पहले वो दोषियों की रिपोर्ट देखेगा और फंदे की लंबाई तय करेगा. दोषियों के वज़न के अनुसार ही पुतले का वज़न तय होगा. अभ्यास के दौरान फांसी घर में वैसे ही ख़ामोशी रहेगी जैसे फांसी देने के समय होती है. फांसी देते वक्त सारी बातें इशारों में की जाती हैं.

जेल सूत्रों के अनुसार फांसी की प्रक्रिया पूरी होने में तीन घंटे का समय लगता है. फांसी के दिन दोषियों को सुबह पांच बजे उठा दिया जाता है. फांसी देने के लिए करीब 7 फुट का रस्सा तैयार किया जाता है. मौत स्पाइनल कॉर्ड टूटने से होनी चाहिए इसका ध्यान रखा जाता है. इस बीच तिहाड़ जाने से पहले news 18 से पवन जल्लाद ने कहा कि उसकी आर्थिक स्थिति को बेहतर किया जाना चाहिए. पवन ने कहा कि उसे इस वक्त जेल प्रशासन पांच हज़ार रुपये देता है. वो योगी सरकार से ये भी गुहार लगाता हुआ नज़र आया कि मंहगाई को देखते हुए ये राशि बढ़ाकर 20 हज़ार रुपये की जानी चाहिए. पवन जल्लाद ने कहा कि वो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहा है. गौरतलब है कि पवन जल्लाद के पांच बेटियां और दो बेटे हैं.

ये भी पढ़ें :- 

आतंक का पर्याय बनी महिला डकैतों का गैंग अरेस्ट, कहानी जानकर रह जाएंगे दंग!


निर्भया के दोषियों को फांसी कल होगी या नहीं, थोड़ी देर में फैसला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज