होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /OMG: मेरठ में बारातियों के स्वागत के लिए सड़क जाम कर प्रशासन को 'नचाया', जानिए माजरा...

OMG: मेरठ में बारातियों के स्वागत के लिए सड़क जाम कर प्रशासन को 'नचाया', जानिए माजरा...

सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया ने जाम खुलवाने की कोशिश की, पर लोग मान नहीं रहे थे.

सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया ने जाम खुलवाने की कोशिश की, पर लोग मान नहीं रहे थे.

Tussle between Public and Officials : इब्ज चौराहे पर लोगों ने सड़क पर यह कहते हुए जाम लगा दिया कि नाली और सीवर का पानी ...अधिक पढ़ें

मेरठ. आमतौर पर किसी के घर में शादी होती है, तो घरवाले इस बात को लेकर व्यस्त रहते हैं कि कैसे बारातियों का स्वागत होगा, कैसे बेटी विदा होगी. लेकिन मेरठ में एक मोहल्ले के लोगों ने बेटी की बारात की खातिर सड़क पर जाम लगा दिया. इनलोगों का कहना है कि तीन दिन बाद उनके मोहल्ले में बिटिया की शादी है और पूरी गली में नाले और सीवर का पानी बह रहा है. नगर निगम से गुहार लगा लगाकर थक चुके लोगों को जब कोई रास्ता नहीं सूझा तो उन्होंने सड़क जाम कर दिया.

मामला मेरठ के इब्ज चौराहे के आसपास के इलाके का है. यहां सफाई नहीं होने और सीवर जाम होने की समस्या काफी दिनों से है. लोगों का कहना है कि पूरे इलाके में सफाई का काम नहीं हो रहा. सीवर लाइनें जाम पड़ी हैं. कई बार नगर निगम के अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है, लेकिन सुनवाई नहीं हुई. लोगों ने बताया कि सीवर सफाई के लिए नगर निगम ने 7.5 करोड़ का बजट पास किया था, लेकिन कार्य जमीन पर दिखाई नहीं दिया. इसलिए वे अपना विरोध प्रकट कर रहे हैं.

इन्हें भी पढ़ें :
Orai: वारदात के छह महीने बाद दारोगा पर दर्ज हुई खुदकुशी के लिए उकसाने की FIR
Gang Rape Case: पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति समेत 3 को उम्रकैद की सजा

आपके शहर से (मेरठ)

काफी देर तक लोगों ने बांस बल्ली लगाकर सड़क जाम रखा. इस दौरान अधिकारियों ने जाम खुलवाने की कोशिश की, लेकिन लोग मानने को राजी नहीं थे. लोगों ने अधिकारियों से कहा कि वर्षों से बंद सीवर लाइन खुलवाई जाए और सफाई कराई जाए, तभी आंदोलन खत्म होगा. काफी देर बाद जब नगर निगम की गाड़ी आई और साफ-सफाई का कार्य शुरू हुआ, तब जाकर लोगों ने जाम समाप्त किया. मोहल्ले के लोगों ने बताया कि वे इस बात को लेकर और ज्यादा परेशान थे कि आखिर इतनी गंदगी में वे बारातियों का स्वागत कैसे करेंगे.

खेलें यूपी क्विज

इस दौरान प्रदर्शनकारियों और अधिकारियों के बीच नोकझोंक भी हुई. सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाया और जलमग्न गलियों को देखा. लोगों ने उन्हें बताया कि तीन दिन बाद यहां बेटी की शादी होनी है. बारात आएगी तो ऐसे में किस तरह से कार्यक्रम होगा. सीओ ने जलमग्न गलियों की फोटो मोबाइल से खींची और आश्वासन दिया, तब जाकर जाम खुला.

Tags: Meerut Municipal Corporation, UP news, मेरठ

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें