Home /News /uttar-pradesh /

pm kusum yojna farmers get subsidy on agricultural solar pumps know how to apply

PM Kusum Yojna: आधी से कम कीमत पर सरकार किसानों को दे रही सोलर पंप, जानें कैसे करें आवेदन

PM Kusum Yojana: किसानों को सोलर पंप लगवाने के लिए कृषि विभाग की वेबसाइट upagriculture.com पर आवेदन करना होगा. वहीं, आवेदन करने के पश्चात 40 फीसदी शुल्क किसानों को देना है. जबकि केंद्र और राज्‍य सरकार की तरफ से बाकी अनुदान मिलेगा.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- विशाल भटनागर

    मेरठ. किसान खेतों में पानी देने के लिए बिजली की ट्यूबवेल का उपयोग करते हैं. अगर वे चाहें तो कम खर्चे में बेहतर सुविधाएं प्राप्त कर सकते हैं. आप सोच रहे होंगे कि आखिर कैसे कम खर्च में बेहतर सुविधाएं मिल सकती है? दरअसल केंद्र सरकार पीएम कुसुम योजना के तहत किसानों के सोलर पंप लगवा रही है, ताकि किसान सौर ऊर्जा का उपयोग कर कम खर्चे में बेहतर फसल उगा सकें. इसमें केंद्र व राज्य सरकार किसानों को 60फीसदी तक की सब्सिडी भी उपलब्ध करा रही है,जिससे ज्यादा से ज्यादा किसान सोलर पंप के माध्यम से खेतों की सिंचाई कर सकें.

    बहरहाल, जो किसान अपने यहां सोलर पंप लगवाना चाहते हैं. उन सभी को कृषि विभाग की वेबसाइट upagriculture.com पर आवेदन करना होगा. आवेदन करने के पश्चात 40 फीसदी तक का जो शुल्क किसानों को देना है. उसको एक सप्ताह के अंतर्गत इंडियन बैंक की किसी भी शाखा में जमा कराना होगा. इसके बाद उनके यहां पर सोलर पंप का कार्य शुरू हो जाएगा. अगर मेरठ मंडल की बात की जाए तो 1 जुलाई को प्राथमिकता के तौर पर इस योजना का विशेष महा अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें पहले आओ पहले पाओ को प्राथमिकता दी जाएगी.

    किसानों को खुद करानी होगी बोरिंग
    इस योजना का लाभ लेने वाले किसानों को खुद ही अपने खेत में सोलर पंप के लिए बोरिंग करानी होगी. शासन द्वारा जारी किए गए सर्कुलर के अनुसार दो एचपी के लिए चार इंच ,पांच एचपी के लिए छह इंच और 7.5 और 10 एचपी के लिए आठ इंच की बोरिंग होनी अनिवार्य है. इतना ही नहीं 22 फीट तक की गहराई पर उपलब्ध जल स्तर के लिए दो एचपी,सर्फेस सोलर पंप, 50 फीट की गहराई के लिए दो एचपी सबमर्सिबल, 150 फीट की गहराई पर तीन एचपी. 200 फीट की गहराई पांच एचपी एवं 300 फीट गहराई पर 7.5 और 10 एचपी सोलर पंप लगाए जा सकते हैं.

    जानें कितना मिलेगा अनुदान
    2 एचपी डीसी और एसी सर्फेस पंप की बात की जाए तो 1 लाख 44 हजार 526 रुपये कुल निर्धारित मूल्य है, जिसमें से 86 हजार 716 रुपये केंद्र सरकार और 57 हजार 810 रुपए किसान को देना होंगे. इसी तरीके से अगर हम 2 एचपी डीसी सबमर्सिबल पंप की बात करें तो कुल कीमत 1 लाख 47 हजार 131 रुपये हैं.उस पर 88 हजार 278 रुपए केंद्र सरकार देंगी. वहीं 58 हजार 853 रुपए किसान को देने होंगे.

    इसी कड़ी में अगर हम दो एचपी ऐसी सबमर्सिबल की बात करें तो कुल लागत 1 लाख 46 हजार 927 रुपये रहेगी, जिसमें से 88 हजार 756 रुपये केंद्र सरकार व 59 हजार 171 रुपये किसान को देना होगा. इसी तरीके से तीन एचपी डीसी सबमर्सिबल 1 लाख 94 हजार 516 रुपये मूल्य है. इसमें केंद्र सरकार द्वारा 1 लाख16 हजार 710 रुपये और 77 हजार 806 रुपये किसान को देना होगा. 3 एचपी ऐसी सबमर्सिबल में 1 लाख 93 हजार 460 रुपये मूल्य रहेगा. केंद्र सरकार 1 लाख 16 हजार 076 रुपये व 77 हजार 384 रुपये, पांच एचपी ऐसी सबमर्सिबलमें 2 लाख 73 हजार137 रुपये लागत रहेगी.केंद्र सरकार 1 लाख 63 हजार 882 रुपये देगी व 1 लाख 09 हजार 255 रुपये किसान को देना होगा. 7.5 ऐसी सबमर्सिबल के लिए 3 लाख 72 हजार126 लागत है. जिसमें 2 लाख 23 हजार 276 रुपये केंद्र सरकार देगी व 1 लाख 48 हजार 850 किसान को देना होगा. वहीं दस एचपी ऐसी सबमर्सिबल की लागत4 लाख 64 हजार 304 रुपये रहेगी. जिसमें 2 लाख 78 हजार 582 सरकार देगी व 1लाख 85 हजार रुपए 722 किसान को देने होंगे.

    Tags: Central government, Farmer, Meerut news, UP Government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर