...तो इसलिए जमीन में शराब डालने के बाद खड़ा किया जाता है यहां पर रावण का पुतला

शराब डालने के बाद खड़ा किया जाता है यहां पर रावण का पुतला
शराब डालने के बाद खड़ा किया जाता है यहां पर रावण का पुतला

पंडित हरीश चन्द्र जोशी का कहना है कि लक्ष्मण ने भी रावण (Ravana) से ज्ञान प्राप्त किया था. इसलिए वो रावण को गुरु की संज्ञा देते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2020, 5:14 PM IST
  • Share this:
मेरठ. पूरे देश में दशहरे (Dussehra Festival) का पर्व दशानन के दहन के साथ हर्षोल्लास से साथ मनाया जाता है. लेकिन रावण की ससुराल कहे जाने वाले मेरठ (Meerut) में कुछ लोग रावण का पुतला दहन देखना अशुभ मानते हैं. और तो और मान्यताओं के अनुसार जिस मंदिर में कभी मेरठ की बेटी मानी जाने वाली मयदानव की पुत्री मंदोदरी पूजा करने के लिए आया करती थीं. उस मंदिर के पुजारी का कहना है कि रावण तो मेरठ का दामाद माना जाता है. ऐसे में प्रकाण्ड विद्वान का पुतला दहन कैसे देख सकते हैं. पंडित हरीश चन्द्र जोशी का कहना है कि लक्ष्मण ने भी रावण से ज्ञान प्राप्त किया था. इसलिए वो रावण को गुरु की संज्ञा देते हैं.

पंडित हरीश चन्द्र के अपने तर्क हैं, लेकिन मेरठ के भैंसाली ग्राउंड में रावण कुम्भकरण और मेघनाद का पुतला दहन के लिए बिलकुल तैयार हैं. एक तरफ पंडित रावण को गुरु और दामाद की संज्ञा देते हैं तो दूसरी तरफ मेरठ में उस जगह पर रावण मेघनाद कुम्भकरण का पुतला फूंका जाता है, जहां कभी मंदोदरी तालाब में स्नान के लिए आया करती थीं. मान्यता है कि इसी स्थान पर रावण और मंदोदरी की पहली मुलाकात हुई थी. इस मैदान की भी अजीब मान्यता है. कहा जाता है कि इस स्थान पर रावण का पुतला जब खड़ा किया जाता है तो गड्ढे में दो बूंद मदिरा डाली जाती है. अगर दो बूंद मदिरा गड्ढे में नहीं डाली जाती तो पुतला बार- बार गिर जाता है.

हाईटेक रामलीला का होगा मंचन 



इन मान्यताओं के बीच रावण की ससुराल मेरठ में भव्य और हाईटेक रामलीला मंचन की तैयारी पूरी हो चुकी है. इस बार रावण जिस रथ पर सवार होकर आएगा उस रथ पर कोरोना भी लिखा होगा. रामलीला कमिटी के सदस्यों का कहना है कि इस बार रावण दहन के साथ कोरोना का भी संहार होगा. मेरठ के भैंसाली ग्राउंड पर तीन घंटे की हाईटेक रामलीला का मंचन होगा जिसका सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लाइव प्रसारण भी होगा. रविवार रात तकरीबन 10 बजे रावण मेघनाद और कुम्भकरण का दहन होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज