Home /News /uttar-pradesh /

raksha bandhan 2022 environment club youth tie rakhi to tree for environmental protection nodark

Meerut: मेरठ के युवाओं का अनोखा प्रयास, रक्षाबंधन पर इस अंदाज में दे रहे पर्यावरण संरक्षण की सीख

Raksha Bandhan Environment: यूपी के मेरठ में एनवायरमेंट क्लब की टोली ने रक्षाबंधन पर वृक्षों को राखी बांधकर उनकी दीर्घायु की कामना की है. क्लब की सदस्य विधि कौशिक का कहना है कि क्लब के सदस्य हर साल रक्षाबंधन पर इसी प्रकार वृक्षों के राखी बांधते हैं.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- विशाल भटनागर मेरठ

मेरठ. देश भर में रक्षाबंधन त्योहार उल्लास के साथ मनाया जा रहा है. भाई की कलाई पर विधि विधान के साथ बहनें रक्षा का सूत्र बांधकर अपनी रक्षा का वचन ले रही हैं, लेकिन यूपी के मेरठ जिला में युवाओं की एक टोली द्वारा अनोखा और खास प्रयास किया जा रहा है, जिसकी हर कोई प्रशंसा कर रहा है. दरअसल एनवायरमेंट क्लब (Environment Club ) की युवा टोली पेड़ों को राखी बांधकर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे रही है.

एनवायरमेंट क्लब की सदस्य विधि कौशिक का कहना है कि क्लब के सदस्य हर साल रक्षाबंधन पर इसी प्रकार वृक्षों के राखी बांधते हैं. हमारा उद्देश्य पर्यावरण के प्रति लोगों को सचेत करने का है, क्योंकि विकास के नाम पर जिस तरह से पेड़ों को काटा जा रहा है. उससे हमारा पर्यावरण असंतुलित होते जा रहा है.

प्राण वायु की रक्षा का ले रहे वचन
क्लब के सदस्यों का कहना है कि बहन भाई की कलाई पर राखी बांधकर रक्षा करने की वचन लेती है. ऐसे में अब पेड़ों को बचाने के लिए भी रक्षा सूत्र की जरूरत है और यह बहुत आवश्यक भी है. इसिलए हम सभी पेड़ो को राखी बांधकर उनकी दीर्घायु की कामना करते हैं. वहीं उनसे हम वचन भी लेते हैं कि इसी प्रकार हमारे जीवन प्राण वायु की रक्षा करते रहें. गौरतलब है कि इन युवाओं ने पेड़ों को राखी बांधने के लिए राखियां भी खुद ही तैयार की है. रक्षा सूत्र के लिए कलावा का भी उयोग कर रहे हैं.

पब्लिक का भी मिल रहा सपोर्ट
युवाओं की टोली को आम जनमानस का भी भरपूर सपोर्ट मिल रहा है. सरस्वती विहार में जब युवाओं की टोली द्वारा पेड़ों को राखी बांधी गई. तो आसपास के रहने वाले भी इनका साथ देने में जुट गए. महिलाओं और छोटे बच्चों ने भी पेड़ों को राखी बांधी. साथ ही सभी ने वचन दिया कि इन पेड़ों की वह रखवाली करेंगे. जिससे की पेड़ इसी तरीके से आगे बढ़ते रहे.

Tags: Environment news, Meerut news, Raksha bandhan, Rakshabandhan festival

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर