Home /News /uttar-pradesh /

यूपी में RSS बनाएगा इतिहास, 3 लाख स्वयंसेवकों के साथ दिखाएगा दम

यूपी में RSS बनाएगा इतिहास, 3 लाख स्वयंसेवकों के साथ दिखाएगा दम

मेरठ में RSS इतिहास बनाने जा रहा है. 25 फरवरी को यहां रिकार्ड संख्या में स्वयंसेवकों का समागम होगा जिसका नाम 'राष्ट्रोदय समागम' रखा गया है.

    उत्तर प्रदेश के मेरठ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इतिहास बनाने जा रहा है. 25 फरवरी को यहां रिकार्ड संख्या में स्वयंसेवकों का समागम होगा. पूर्ण गणवेष में होने वाले इस 'राष्ट्रोदय समागम' को अब तक का सबसे बड़ा आयोजन माना जा रहा है. खास बात ये है कि इस समागम में सर संघचालक मोहन भागवत मुख्य अतिथि होंगे.

    समागम के लिए 3 लाख स्वयंसेवकों ने रजिस्ट्रेशन करा लिए हैं. इस संख्या के साथ ही संघ के कोल्लम में 2010 में 92 हजार स्वयंसेवकों का जमावड़ा पीछे छूट जाएगा. बता दें कि 1998 में मेरठ में 51 हजार स्वयंसेवकों का समागम हुआ था. मेरठ प्रांत में तीन कमिश्नरी, 14 प्रशासनिक जिले हैं. इसे संघ ने 6 महानगर एवं 18 जिला इकाइयों में बांटा है. प्रत्येक जिला एवं महानगर से कम से कम 10 हजार की संख्या का लक्ष्य रखा गया. प्रांत के सभी 10,580 ग्रामों से प्रति ग्राम 25 कार्यकर्ता उपलब्ध होने का लक्ष्य था. कार्यक्रम का नाम राष्ट्रोदय समागम रखा गया है.

    हुए 3 लाख नए रजिस्ट्रेशन


    आरएसएस से मिली जानकारी के अनुसार इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए संघ की तरफ से काफी समय पहले से ही अभियान चल रहा था. इसमें अक्टूबर 2017 से 1 जनवरी 2018 तक घर-घर दस्तक कार्यक्रम चलाया गया. इसमें संघ के करीब 5700 स्वयंसेवकों ने घर-घर दस्तक दी. इस दौरान 3 लाख रजिस्ट्रेशन हुए. पूरे प्रांत में 10 हजार 580 गांवों में से प्रत्येक में रजिस्ट्रेशन हासिल किए गए. संघ का दावा है कि ये पहला ऐसा प्रांत है, जिसके हर गांव में स्वयंसेवक हैं.

    रजिस्ट्रेशन के माध्यम से संघ ने 3 लाख स्वयंसेवकों के पते और मोबाइल नंबर जुटा लिए हैं. प्रान्त प्रचारक का कहना है कि कि अभी तक 3 लाख 1001 पंजीकरण हो चुके हैं. लोगों में उत्साह को देखते हुए 1 फरवरी को सुबह 10 बजे से 2 फरवरी रात्रि 12 बजे तक के लिए राष्ट्रोदय की वेबसाइट फिर से खोली जाएगी. इसमें इच्छुक व्यक्ति अपना पंजीकरण करवा सकते हैं. ये समागम इसलिए और भी महत्वपूर्ण है क्योंकि जिन जिलों से ये संख्या जुटाई गई है, वहां कई जगह ​दलित और मुस्लिम आबादी ज्यादा मानी जाती है.

    अक्टूबर 2017 से 1 जनवरी 2018 तक घर-घर दस्तक कार्यक्रम चलाया गया


    इनमें मेरठ के साथ संभल, बागपत, मुजफ्फरनगर, शामली, अमरोहा, मुरादाबाद, सहारनपुर, बिजनौर, रामपुर, गाजियाबाद और नोएडा शामिल हैं. इन 3 लाख रजिस्ट्रेशन में 1.7 लाख नए सदस्य होंगे, जो गणवेश में दिखेंगे. जानकारी के अनुसार मेरठ के गढ़ रोड में करीब 1200 एकड़ क्षेत्र में ये कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. दरअसल राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पश्चिम क्षेत्र में मेरठ प्रांत में करीब 15 सालों से काफी दबदबा रहा है. पिछले साल बीजेपी सत्ता में आई तो संघ ने अपनी जड़ें और मजबूत करनी शुरू कर दी.

    राष्ट्रोदय समागम कार्यक्रम उसी कड़ी का हिस्सा माना जा रहा है. इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तरफ से काफी समय पहले से ही अभियान चल रहा था. इसमें अक्टूबर 2017 से 1 जनवरी 2018 तक घर-घर दस्तक कार्यक्रम चलाया गया. इसमें संघ के करीब 5700 स्वयंसेवकों ने घर-घर दस्तक दी. इस दौरान 3 लाख रजिस्ट्रेशन हुए.

    आपके शहर से (मेरठ)

    Tags: Meerut news, RSS

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर