UP News: मिशन 2022 का आगाज मेरठ से करेंगे अखिलेश यादव, 23 मार्च को होगी बड़ी जनसभा

मिशन 2022 का आगाज मेरठ से करेंगे अखिलेश यादव

मिशन 2022 का आगाज मेरठ से करेंगे अखिलेश यादव

इससे पहले कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) मेरठ के कैली में जनसभा को संबोधित कर चुकी हैं.

  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) जिले में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की एक जनसभा का कार्यक्रम मवाना में रखा गया है. आगामी 23 मार्च को अखिलेश की जनसभा को लेकर सपाई ज़ोरदार तैयारियों में जुटे हुए हैं. सपा प्रमुख शहीद धन सिंह कोतवाल जी की प्रतिमा का भी अनावरण करेंगे. ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने के लिए सपा के कार्यकर्ता गांव- गांव जनसंपर्क कर रहे हैं. माना जा रहा है कि कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव मेरठ में होने वाली जनसभा के माध्यम से मिशन 2022 क आगाज करेंगे.

सपा नेता अतुल प्रधान ने बताया कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कार्यक्रम 23 मार्च तय है. अतुल प्रधन ने बताया कि सपा मुखिया अखिलेश यादव 23 मार्च को मवाना में नवजीवन किसान डिग्री कालेज में धनसिंह कोतवाल की प्रतिमा का अनावरण करेंगे. इसके बाद वो जनसभा को संबोधित करेंगे. इस रैली को कामयाब बनाने के लिए कार्यकर्ता गली-गली जाकर प्रचार कर रहे हैं.

Ghaziabad News: डिलीवरी करवाने पहुंचे दंपत्ति, पांचवी बार बेटी हुई पैदा तो अस्पताल में छोड़कर हुए फरार

इससे पहले कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी मेरठ के कैली में जनसभा को संबोधित कर चुकी हैं. रालोद के जयंत चौधरी भी मवाना इलाके में ही किसान पंचायत कर चुके हैं. आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल भी मेरठ में किसान पंचायत कर चुके हैं. ऐसे में अब मवाना इलाके में सपा मुखिया अखिलेश यादव की जनसभा मह्त्वपूर्ण मानी जा रही है. देखने वाली बात होगी कि अखिलेश इस जनसभा में कौन से राजनीतिक तीर चलाते हैं.
किसानों के आंदोलन से घबराई भाजपा-अखिलेश

उधर, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बीते दिनों मथुरा के बाजना स्थित मोरकी इंटर कॉलेज मैदान में किसान महापंचायत को संबोधित किया था. यह किसान महापंचायत सपा और रालोद की ओर से आयोजित की गई थी. मंच पर अखिलेश के साथ राष्ट्रीय लोकदल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी भी मौजूद थे. किसान महापंचायत के मंच से दोनों नेताओं ने केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा था. किसानों को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा था कि किसान आंदोलन से कोई घबराया हो या नहीं, लेकिन भाजपा जरूर घबरा रही है. उन्होंने कहा था कि जब तक काले कानून वापस नहीं होंगे, यह लड़ाई चलती रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज