PUBG खेलने को मोबाइल नहीं दिया तो बेटे ने रेता पिता का गला, दोनों की हालत नाजुक

PUBG खेलने को मोबाइल नहीं दिया तो बेटे ने रेता पिता का गला (सांकेतिक फोटो)
PUBG खेलने को मोबाइल नहीं दिया तो बेटे ने रेता पिता का गला (सांकेतिक फोटो)

दोनों को एमसीसी हॉस्पिटल ले गए, यहां से मेडिकल रेफर (Medical College) कर दिया. आमिर की हालत नाजुक बताई गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2020, 10:39 PM IST
  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) जिले में पबजी (PUBG) खेलने के लिए मोबाइल न देने पर बेटे के सिर पर खून सवार हो गया. उसने पहले अपने पिता की गर्दन छुरे से रेत दी. इसके बाद खुद की गर्दन पर भी छुरा मार लिया. जिसके बाद हड़कंप मच गया और दोनों को आनन-फानन में मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया. फिलहाल दोनों जिंदगी और मौत से लड़ रहे हैं. घटना सामने आने के बाद पुलिस जांच पड़ताल में जुटी है.

मामला मेरठ के थाना खरखौदा क्षेत्र के एवन कॉलोनी का है. जहां आमिर नाम का एक युवक मोबाइल पर गेम खेलने का आदि है. जमुना नगर का रहने वाला (25) वर्षीय आमिर ने अपने पिता इरफान से पबजी खेलने के लिए मोबाइल मांगा. इरफान ने मोबाइल देने से इनकार कर दिया. इस पर तैश में आकर आमिर कमरे में गया, छुरा निकालकर लाया और पिता के गर्दन व पैर पर ताबड़तोड़ वार कर दिए. इसके बाद आमिर ने अपनी गर्दन पर भी चाकू मार लिए. लहूलुहान पिता-पुत्र जमीन पर गिर पड़े. चीख-पुकार सुनकर लोग मौके पर दौड़े. दोनों को एमसीसी हॉस्पिटल ले गए, यहां से मेडिकल रेफर कर दिया. आमिर की हालत नाजुक बताई गई है. आमिर की इस लत के कारण इलाके के लोग उसे मानसिक रोगी भी कहते हैं.





11 साल के बच्चे ने लगाई थी फांसी
बता दें कि 13 अक्तूबर को पल्लवपुरम क्षेत्र में मोबाइल गेम को लेकर बहन से विवाद होने के बाद 11 साल के बच्चे ने फांसी लगा ली थी. हालांकि अब उसकी हालत ठीक है. घटना उस वक्त हुई जब बच्चे के पिता मेडिकल स्टोर पर थे और मां सब्जी लेने मार्केट गई हुई थी. उनके पीछे मोबाइल पर गेम खेलने को लेकर भाई-बहन में विवाद हो गया था.

डाउनलोड कर रहे गेम
पिछले दिनों चाइनीज एप पबजी को केंद्र सरकार के आदेश पर प्ले स्टोर से हटा दिया गया था. सूत्रों ने बताया कि यह गेम अभी कुछ वेबसाइट पर उपलब्ध है, जहां से इसे डाउनलोड कर खेला जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज