होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /गौरैया को बचाने के लिए वन विभाग ने शुरू की है यह मुहिम

गौरैया को बचाने के लिए वन विभाग ने शुरू की है यह मुहिम

इसके लिए खुद वन विभाग के डीएफओ राजेश कुमार ने पहल करते हुए सभी लोगों के लिए ईमेल व अपना व्हाट्सएप नंबर जारी किया है. ता ...अधिक पढ़ें

    मेरठः-वन विभाग द्वारा गौरैया का संरक्षण करने के लिए एक विशेष मुहिम शुरू की है. जिसके माध्यम से गौरैया के अस्तित्व बचाया जा सकें. ताकि गौरैया की विलुप्त होती चहचहाहट को फिर से लोगों की छतों और आंगन में सुनाई पड़ने लगें. जी हां इसके लिए खुद वन विभाग के डीएफओ राजेश कुमार ने पहल करते हुए सभी लोगों के लिए ईमेल व अपना व्हाट्सएप नंबर जारी किया है. ताकि लोग अपने आसपास जहां भी उन्हें गौरैया दिखें उनकी फोटो वीडियो बनाकर उनके पास भेज सकें.

    जीपीएस के माध्यम से गिनी जाएगी चिड़ियों की संख्या 
    डीएफओ राजेश कुमार ने बताया कि जीपीएस सिस्टम के माध्यम से गौरैया की संख्या को गिना जाएगा.साथ ही गौरैया को सुरक्षित करने के लिए वह विशेष रुप से भी पहल कर रहे हैं. जिससे की उनको दाना पानी मिलता रहे और गौरैया की संख्या बढ़ाई जा सके.

    वन विभाग की पहल का दिख रहा असर
    वन विभाग द्वारा गौरिया को बचाने के लिए शुरू की गई पहल का असर देखने को मिल रहा है. आम जनमानस की जागरूकता के साथ जिन के क्षेत्र में भी गौरिया देखने को मिल रही है. वह फोटो पर वीडियो बनाते हुए डीएफओ के नंबर पर भेज रहे हैं. साथ ही साथ अब घोंसला भी बनाते हुए चिड़ियों को अपने घर पर शरण भी दे रहे.

    आपके शहर से (मेरठ)

    वन विभाग करेगा सम्मानित
    गौरैया का संरक्षण कर रहे पक्षी प्रेमियों को वन विभाग द्वारा विभिन्न प्लेटफार्म पर सम्मानित भी करेगा. इसके लिए जितने लोग भी इस तरह से गौरैया की फोटो और वीडियो भेजेगे व उनके संरक्षण के लिए जो विशेष पहल करेंगे उनको वन विभाग द्वारा सम्मानित भी किया जाएगा. गौरतलब है कि वन विभाग की इस पहल के बाद अब तक 50 से ज्यादा लोग वीडियो और फोटो भेज चुके हैं.

    Tags: Forest, मेरठ

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें