Home /News /uttar-pradesh /

मेरठ:-अजंता कॉलोनी का यह निवास होगा बेसहारा बुजुर्गों का नया घरौंदा

मेरठ:-अजंता कॉलोनी का यह निवास होगा बेसहारा बुजुर्गों का नया घरौंदा

अजंता

अजंता कॉलोनी का यही घर होगा बेसहारा बुजुर्गों के लिए  आश्रम 

मेरठ:- अक्सर देखा जाता है कि जिनका कोई नहीं होता वह बुजुर्ग अपने लिए छत व सहारा ढूंढते हैं. शासन द्वारा भी वृद्धाश्रम संचालित किए जाते हैं. जिससे सभी बुजुर्गों को एक ही स्थान पर छत के साथ-साथ दो वक्त का खाना भी मिल सके.

    मेरठ:- अक्सर देखा जाता है कि जिनका कोई नहीं होता वह बुजुर्ग अपने लिए छत व सहारा ढूंढते हैं. शासन द्वारा भी वृद्धाश्रम संचालित किए जाते हैं. जिससे सभी बुजुर्गों को एक ही स्थान पर छत के साथ-साथ दो वक्त का खाना भी मिल सके. लेकिन आज हम मेरठ के एक ऐसे परिवार के बारे में बताएंगे. जिन्होंने अपने पुरातन आवास को बेसहारा बुजुर्गों के लिए वृद्धाश्रम में परिवर्तित कर दिया है. जी हां न्यूज- 18 मेरठ लोकल की टीम से खास बातचीत करते हुए बसंत किशोर रावत और उनके पुत्र प्रवीण रावत ने कहा कि उन्होंने अपने पुरातन आवास को इसलिए बुजुर्गों को समर्पित किया है. ताकि कोई भी खुले आसमान में जीवन व्यापन ना करें.

    125 गज में है आवास 6 कमरों का निर्माण

    जिस आवास को वृद्धाश्रम में तब्दील करने के लिए कार्य शुरू कर दिया गया है. वह आवास लगभग 125 गज में बना हुआ है. जिसमें प्रथम और द्वितीय मंजिल पर 6 कमरे बने हुए हैं. साथ ही सभी प्रकार की सुविधाएं भी लैस है. इतना ही नहीं आश्रम को बेहतर तरीके से संचालित करने के लिए एक ट्रस्ट का भी निर्माण किया है. जिसका नाम अखिल भारतीय चित्रांश एवं सर्व समाज हितकारी ट्रस्ट रखा गया है. जिसके माध्यम से एक तरफ जहां वृद्धाश्रम का संचालन किया जाएगा. उसके साथ-साथ अन्य प्रकार की सभी सामाजिक गतिविधियों का भी संचालन किया जाएगा.



    आश्रम में नहीं लगेगा किसी भी प्रकार का शुल्क

    जो बुजुर्ग इस आश्रम में रहना चाहेंगे उनको किसी भी प्रकार का शुल्क देना नहीं पड़ेगा. खान-पान से लेकर अन्य प्रकार की सभी सुविधाएं ट्रस्ट के माध्यम से ही लोगों को उपलब्ध कराई जाएंगी.

    रिपोर्ट
    विशाल भटनागर
    मेरठ

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर