लाइव टीवी

अब अलग-अलग कंपनियों में 'किन्नरों' को भी मिलेगा प्लेसमेंट, PM मोदी को बोला थैंक्स
Meerut News in Hindi

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 17, 2020, 3:10 PM IST
अब अलग-अलग कंपनियों में 'किन्नरों' को भी मिलेगा प्लेसमेंट, PM मोदी को बोला थैंक्स
अब अलग-अलग कंपनियों में 'किन्नरों' को भी मिलेगा प्लेसमेंट

पीपीडीसी के डायरेक्टर सुनील गुप्ता का कहना है कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के तहत ट्रांसजेंडर्स के लिए प्रशिक्षण की शुरुआत की जा रही है. शुरुआत में पांच ट्रेड की ट्रेनिंग दी जाएगी.

  • Share this:
मेरठ. शादी ब्याह और त्योहारों पर बधाई मांग कर जीवन यापन करने वाले किन्नरों को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए मेरठ में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में अनोखी मुहिम शुरू की जा रही है. किन्नरों को समाज में मान सम्मान दिलाने और आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है. राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम ने ट्रांसजेंडर्स की जिंदगी को नई दिशा देने के लिए यह प्रोजेक्ट शुरू किया है.

इसमें किन्नरों को सिलाई, अगरबत्ती बनाना, मोबाइल रिपेयरिंग, कंप्यूटर टाइपिंग और स्पोर्ट्स के उपकरण बनाने का का निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा. इस अनोखी मुहिम से न सिर्फ किन्नर समाज के लोग स्वरोजगार अपना सकेंगे बल्कि उनका विभिन्न कंपनियों में प्लेसमेंट भी होगा. किन्नर समाज के लोग इस अनोखी पहल को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद देते नहीं थक रहे हैं.

पीपीडीसी के डायरेक्टर सुनील गुप्ता का कहना है कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के तहत ट्रांसजेंडर्स के लिए प्रशिक्षण की शुरुआत की जा रही है. शुरुआत में पांच ट्रेड की ट्रेनिंग दी जाएगी. अगर प्रयोग सफल रहा तो कोर्स बढ़ाए जाएंगे. इस ट्रेनिंग को लेकर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा. आमतौर पर ऐसे कोर्स अभी तक सिर्फ पुरुषों और महिलाओं के लिए ही फायदेमंद थे. उन्हें अपने पैरों पर खड़े होने में सहायक थे, लेकिन ये सारी सुविधाएं अब किन्नरों को भी मिलेंगी. वहीं न सिर्फ किन्नर स्वरोजगार अपना सकेंगे बल्कि अलग-अलग कंपनियों में उनकी नौकरियां भी लगेंगी.



सरकार की इस अनोखी मुहिम को लेकर किन्नर समाज भी स्वागत करता हुआ नज़र आ रहा है. किन्नर समाज के लोग सरकार की इस पहल को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते नजर आ रहे हैं. यही नहीं कोर्स पूरा होने के बाद रोजगार कार्यालय और जिला उद्योग केंद्र के साथ मिलकर जॉब फेयर का भी आयोजन होगा. जिससे प्रशिक्षित ट्रांसजेंडर को स्थानीय स्तर की कंपनियों में नौकरी मिल सके. यदि कोई ट्रांसजेंडर प्रशिक्षण के बाद अपना कार्य शुरू करना चाहेगा तो उसकी सहायता भी की जाएगी.



ये भी पढ़ें:

अमेठी: लाठी-डंडों से लैस दबंगों ने टोल कर्मचारियों को जमकर पीटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 17, 2020, 3:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading