Home /News /uttar-pradesh /

मेरठ: एसपी के वायरल वीडियो पर बोले केंद्रीय मंत्री- अगर सच है तो तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए

मेरठ: एसपी के वायरल वीडियो पर बोले केंद्रीय मंत्री- अगर सच है तो तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि, अगर यह वीडियो सच है तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.  (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि, अगर यह वीडियो सच है तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. (फाइल फोटो)

मेरठ के एसपी (Meerut SP City) के वायरल वीडियो पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने बयान देते हुए कहा कि वीडियो सही है तो कार्रवाई होनी चाहिए.

    मेरठ. मेरठ के एसपी सिटी (Meerut SP City) के वायरल वीडियो पर केंद्रीय मंत्री ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि यदि मेरठ के एसपी के कथित वायरल वीडियो में दिया गया बयान सच पाया जाता है तो उन पर तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए. रविवार को अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने ट्वीट कर कहा, ‘अगर यह सच है कि उन्होंने वीडियो में यह बयान दिया है, तो यह निंदनीय है. उसके खिलाफ तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए.'

    केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, 'किसी भी स्तर पर हिंसा (चाहे वह पुलिस द्वारा हो या भीड़ द्वारा) अस्वीकार्य है. यह लोकतांत्रिक देश का हिस्सा नहीं हो सकता. पुलिस को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जो निर्दोष हैं, वे पीड़ित न हों.'

    यह है मामला
    नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के दौरान मेरठ के एसपी सिटी अखिलेश नारायण का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें उन्‍हें कथित तौर पर उपद्रवियों कह रहे हैं कि ‘पाकिस्तान चले जाओ’. एसपी सिटी ने इस पर सफाई देते हुए कहा, 'युवक पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए गली में भाग गए थे.'

    एडीजी ने किया बचाव
    मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने उनका बचाव किया है. उन्होंने शनिवार को इस पर सफाई देते हुए कहा था, 'जिस समय का यह वीडियो है, उस समय देश विरोधी नारे लगाए जा रहे थे. एसपी सिटी ने तनाव के समय किसी तरह स्थिति को नियंत्रित किया. एसपी सिटी आगजनी, तोड़फोड़ और फायरिंग के बीच घिरे हुए थे. एसपी सिटी ने जांबाजी के साथ हालात को कंट्रोल किया.’




    एंटी नेशनल नारे लगाए जा रहे थे: ADG
    प्रशांत कुमार ने कहा, 'वीडियो से स्पष्ट है कि वहां पहले से पथराव हो चुका था, पड़ोसी देश (पाकिस्तान) के समर्थन में उस वक्त नारे लग रहे थे. उस दौरान एंटी नेशनल नारे लगाए जा रहे थे. पीएफआई के पंप्‍लेट बांटे जा रहे थे. पुलिस पर पथराव किया जा रहा था. हो सकता है कि एसपी सिटी के शब्दों का चयन गलत हो, लेकिन पुलिस ने किसी के साथ बदसलूकी नहीं की. यही कहा कि किसी को पड़ोसी देश जाना है तो चला जाए, लेकिन पथराव न करे.’

    पुलिस की मंशा पर शक करना उचित नहीं: ADG
    एडीजी प्रशांत कुमार ने शनिवार को यह भी कहा कि अधिकारियों ने अपनी जान की बाजी लगाकर लोगों के जान-माल की रक्षा की. कुल 108 पुलिसकर्मी इस दौरान घायल हुए थे. हम लोगों ने पारदर्शिता के साथ कार्रवाई की. गलत वीडियो दिखाकर पुलिस की मंशा पर शक करना उचित नहीं है. ऐसा लगता है कि साजिशन ऐसा वीडियो जारी किया गया है. पुलिस के एक्शन को नीचा दिखाने की कोशिश की जा रही है. एडीजी के साथ कुछ पत्रकारों को भी टारगेट किया गया था.’

    ये भी पढ़ें - 

    SP के वायरल वीडियो पर बिफरीं मायावती, की यह मांग

    महाराष्ट्र की सरकार में खुश नहीं है कांग्रेस, मांगे कुछ और अहम मंत्रालय

    Tags: Citizenship Act, Mukhtar abbas naqvi, Pakistan, Police, Politics, UP police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर