Home /News /uttar-pradesh /

university students of meerut duing cheating on hands nails and mehandi in examination upns

OMG: हाथ में मेहंदी और नाखून पर फॉर्मूले लिख छात्र कर रहे थे नकल, प्रोफेसर भी रह गए हक्का-बक्का

 इन परीक्षाओं में 250 से ज्यादा नकलचियों को पकड़ा गया है.

इन परीक्षाओं में 250 से ज्यादा नकलचियों को पकड़ा गया है.

नकल रोकने के लिए बनायी गये सचल दल के कॉर्डिनेटर डॉ. शिवराज सिंह पुण्डीर ने बताया कि पहले छात्र-छात्राएं हाईटेक तकनीक का उपयोग करते हुए नकल करते थे. ऐसे में परीक्षा केंद्रों पर मोबाइल का ब्लूटूथ ऑन करके जाते थे, जिसे सभी डिवाइस पता लग जाता. लेकिन अब फिर से छोटी-छोटी पर्चियों का दौर देखने को मिल रहा है. हालांकि नाखून पर नकल लिखकर लाना उनके संज्ञान में भी पहला ही मामला है. नकलचियों को पकड़ने के लिए बाकयदा सीसीटीवी से भी मॉनिटरिंग की जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. मेरठ में चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालयों में परीक्षाओं के दौरान चौंकाने वाला मामला सामने आया है. छात्र नकल के लिए अब इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं. वो नाखून पर फॉर्मूले लिख रहे हैं. कई छात्र हाथ पर ऐसे लिखते हैं कि दूर से वो आपको मेहंदी की डिज़ाइन लगेगी. गहन जांच में ये छात्र पकड़े जाते हैं. बड़ी संख्या में नकलची पकड़े गए. नकल करने के लिए प्रिंटेंड पर्चियों का इस्तेमाल भी किया जा रहा है. छोटे फांट की नकल की पार्चियां प्रिंट कराकर छात्र ला रहे हैं. वहीं नकल का ऐसा तरीका देखकर प्रोफेसर भी हैरान रह गए. हम बात कर रहे चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ से संबद्ध कॉलेजों की. बता दें कि अब तक चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों में 250 नकलची पकड़े गए हैं.

सबसे खास बात है कि एक छोटे से नाखून पर 8 लाइन के प्रशन और उत्तर लिखे हुए थे. इतना ही नहीं एक नकलची ने तो हाथ पर मेहंदी के डिजाइन में नकल करने का तरीका ढूंढ निकाला था. लेकिन इन नकलचियों की एक भी नहीं चली और उड़न दस्ते ने उनकी सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

बाबा साहेब ने कहा था चुनौती से भागना नहीं, सामना करना चाहिए- सीएम योगी

गौरतलब है कि चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों में अभी कुछ परीक्षाओं का आयोजन किया गया था. इन परीक्षाओं में 250 से ज्यादा नकलचियों को पकड़ा गया है. नकल करने के लिए जहां कुछ छात्र छात्राओं द्वारा स्मार्ट वॉच का उपयोग करना पाया गया था. नकल रोकने के लिए बनायी गये सचल दल के कॉर्डिनेटर डॉ. शिवराज सिंह पुण्डीर ने बताया कि पहले छात्र-छात्राएं हाईटेक तकनीक का उपयोग करते हुए नकल करते थे. ऐसे में परीक्षा केंद्रों पर मोबाइल का ब्लूटूथ ऑन करके जाते थे, जिसे सभी डिवाइस पता लग जाता. लेकिन अब फिर से छोटी-छोटी पर्चियों का दौर देखने को मिल रहा है. हालांकि नाखून पर नकल लिखकर लाना उनके संज्ञान में भी पहला ही मामला है. नकलचियों को पकड़ने के लिए बाकयदा सीसीटीवी से भी मॉनिटरिंग की जा रही है.

Tags: CM Yogi, Exam news, HRD ministry, Meerut news, Meerut police, UP Board Examinations, UP education department

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर