Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav 2022: जयंत चौधरी ने News18 से बातचीत में बीजेपी पर जमकर किया प्रहार, जानें क्या-क्या कहा...

UP Chunav 2022: जयंत चौधरी ने News18 से बातचीत में बीजेपी पर जमकर किया प्रहार, जानें क्या-क्या कहा...

 रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने न्यूज़18  से खास बातचीत में दावा किया कि बीजेपी की राजनीतिक जमीन खिसक गई है. (फोटो क्रेडिट- RLD)

रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने न्यूज़18 से खास बातचीत में दावा किया कि बीजेपी की राजनीतिक जमीन खिसक गई है. (फोटो क्रेडिट- RLD)

राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने शुक्रवार को मेरठ में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए भारी बहुमत से गठबंधन की जीत का दावा किया. इस दौरान रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने न्यूज़18 से खास बातचीत में दावा किया कि बीजेपी की राजनीतिक जमीन खिसक गई है.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) नजदीक आने के साथ सभी राजनीतिक दलों ने अपना प्रचार अभियान तेज़ कर दिया. इसी कड़ी में शुक्रवार को राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया जयंत चौधरी (Jayant Chaudhary) और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने मेरठ में साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए भारी बहुमत से गठबंधन की जीत का दावा किया. इस दौरान रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने न्यूज़18 से खास बातचीत में दावा किया कि बीजेपी की राजनीतिक जमीन खिसक गई है.

जाटों के साथ अमित शाह की मुलाकात पर जयंत सिंह ने कहा कि ‘बात जाटों की नहीं, बात किसानों की है.’ वहीं ‘चवन्नी नहीं हैं जो पलट जाएंगे’ वाले बयान को लेकर सवाल उन्होंने कहा, ‘मैं पलट नहीं सकता वह इमानदार बयान था मेरा.’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बार किसान नौजवान और विकास मुद्दा रहेगा.

मेरठ में आज सपा मुखिया अखिलेश यादव और रालोद मुखिया जयंत चौधरी की साझा प्रेस कांफ्रेंस हुई. दोनों ने अपनी बात रखते हुए पानी पी पीकर भाजपा को कोसा. दोनों के निशाने पर खासतौर से यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ रहे. सपा मुखिया अखिलेश यादव ने ख़ासतौर से मुख्यमंत्री के उस बयान पर तीखा तंज कसा, जिसमें सीएम ने कहा था कि चोरों को चांदनी रात अच्छी नहीं लगती. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को अपना काम और उपलब्धि नहीं बतानी है.

यूपी विधानसभा चुनाव से जुड़े तमाम बड़े अपडेट्स यहां पढ़ें…

अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री जो चांदनी रात बोल रहे हैं एक भी बिजली का कारखाना लगाया हो तो बता दें. सपा सुप्रीमों ने कहा कि यूपी में बिजली का सुधार सबसे ज्यादा समाजवादियों ने किया.

बीते दिनों जाटों के साथ अमित शाह की मुलाकात पर अखिलेश यादव ने भी तीखा प्रहार कया. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में बेचैनी है, क्योंकि वेस्टर्न यूपी के किसानों ने भाजपा के दरवाज़े बंद कर दिए हैं. इसीलिए अमित शाह ने दिल्ली में बैठक की है. उन्होंने और तल्ख शब्दों का इस्तेमाल करते हुए कहा कि इनके विधायक इनके नेता दौड़ाए जा रहे हैं. वो यहां तक कह गए कि इनके विधायक सांसद कूटे जा रहे हैं.

अखिलेश ने कहा कि इनके पूर्व मुख्मयंत्री को जनता में अपमानित होना पड़ रहा है. इसीलिए यूपी के बाहर दिल्ली में कार्यक्रम कर रहे हैं. इस सवाल पर कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जयंत को लेकर कहा है कि उन्होंने ग़लत घर चुन लिया है. अखिलेश ने कहा कि जयंत ने भाजपा के लिए वेस्टर्न यूपी में दरवाज़े बंद कर दिए हैं. इस सवाल पर कि सपा रालोद गठबंधन में टिकट को लेकर घमासान चल रहा, अखिलेश ने कहा कि टिकट मांगने वाले ज्यादा होते हैं तो विरोध होता है. अब सब ठीक है.

इससे पहले अखिलेश-जयंत की प्रेस कॉन्फ्रेंस स्थल पर भाजपा के पूर्व विधायक भी पहुंचे. हस्तिनापुर से टिकट न मिलने से नाराज गोपाल काली को पुलिस ने होटल से बाहर निकाल दिया. सपा जिलाध्यक्ष ने उन्हें होटल में आने की मंजूरी नहीं दी. इस दौरान सपा कार्यकर्ता और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई.

अखिलेश-जयंत की प्रेस कांफ्रेंस साढ़े तीन बजे दोपहर में होनी थी, लेकिन तकरीबन आठ बजे दोनों नेता प्रेस कांफ्रेंस के लिए पहुंचे थे. इधर प्रेस कांफ्रेंस में समर्थकों का उत्पात भी ख़ूब देखने को मिला. उत्पात इतना रहा कि कुछ कार्यकर्ताओं को एनएसजी कमांडोज़ ने थप्पड़ भी रसीद दिए. ये सभी प्रेस कांफ्रेंस में घुसने की कोशिश कर रहे थे. यही नहीं हाथापाई में होटल के शीशे भी टूट गए. मेरठ के एक निजी होटल में ये प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की गई थी.

Tags: Jayant Singh, UP BJP, Uttar Pradesh Assembly Elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर