होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

प्रियंका गांधी, सचिन पायलट और भूपेश बघेल ने किया प्रचार, फिर भी इस प्रत्‍याशी को मिले सिर्फ 1519 वोट

प्रियंका गांधी, सचिन पायलट और भूपेश बघेल ने किया प्रचार, फिर भी इस प्रत्‍याशी को मिले सिर्फ 1519 वोट

Up Election News: कांग्रेस के दिग्‍गज नेताओं के चुनाव प्रचार करने के बावजूद पूर्व मिस बिकनी इंडिया अर्चना गौतम अपनी जमानत तक नहीं बचा सकीं. (न्‍यूज 18 इंडिया)

Up Election News: कांग्रेस के दिग्‍गज नेताओं के चुनाव प्रचार करने के बावजूद पूर्व मिस बिकनी इंडिया अर्चना गौतम अपनी जमानत तक नहीं बचा सकीं. (न्‍यूज 18 इंडिया)

UP Chunav Result: उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 का शोर थम चुका है. जनता जनार्दन ने अपना फैसला सुना दिया है. अब नेता चुनाव नतीजे का अपने हिसाब से अर्थ लगाने में जुटे हैं. हस्तिनापुर को द्रौपदी के श्राप से मुक्‍त कराने आईं पूर्व मिस बिकनी इंडिया अर्चना गौतम इस चुनाव में अपनी जमानत भी नहीं बचा सकीं, जबकि उनके पक्ष में कांग्रेस के दिग्‍गज नेताओं ने जनता के बीच जाकर वोट मांगा था.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. कांग्रेस ने बड़ी उम्‍मीद के साथ हस्तिनापुर विधानसभा सीट से पूर्व मिस बिकनी इंडिया, मॉडल और अभिनेत्री अर्चना गौतम को चुनाव मैदान में उतारा था. लेकिन, सियासत के खेल निराले हैं. सियासत की बाज़ी जीतना लोहे के चने चबाने जैसा है. इस बार यूपी विधानसभा चुनाव में भी लोहे के कुछ ऐसे ही चने चबाने हस्तिनापुर से कांग्रेस प्रत्याशी अर्चना गौतम भी कूद पड़ी थीं. उनके लिए वोट मांगने के लिए प्रियंका गांधी, सचिन पायलट, छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल जैसे दिग्‍गज कांग्रेस नेता हस्तिनापुर आए थे, लेकिन चुनाव जीतना तो दूर की बात अर्चना ज़मानत भी नहीं बचा सकीं. अर्चना को महज 1519 वोट मिले. हार के बाद अर्चना गौतम ने सोशल मीडिया पर जनता से रूबरू होते हुए कहा कि अब वह गुंडी बनेंगी.

उत्‍तर प्रदेश को राजनीति की प्रयोगशाला के साथ राजनीति की पाठशाला भी कहा जाता है, क्योंकि यहां की धरती सियासत का ककहरा सिखाती है. राजनीति का यही ककहरा सीखने के लिए इस बार हस्तिनापुर से कांग्रेस प्रत्याशी (जिन्हें बिकिनी गर्ल के नाम से भी जाना जाता है) भी मैदान में उतरी थीं. कांग्रेस प्रत्याशी के प्रचार में प्रियंका गांधी से लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री तक आए लेकिन वह अपनी ज़मानत भी नहीं बचा पाईं. हस्तिनापुर सीट को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा काफी गंभीर थीं. अर्चना गौतम को टिकट मिलने पर हुई आलोचना का उन्‍होंने खुद जवाब भी दिया था. प्रियंका गांधी वाड्रा और राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने हस्तिनापुर के मवाना क्षेत्र में रोड शो भी किया था. छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल भी प्रचार करने पहुंचे थे. इसके बावजूद अर्चना गौतम कुल 1519 वोट प्राप्त कर सकीं. अब अर्चना गौतम का एक वीडियो सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रहा है.

VIDEO: ‘बुलडोजर बाबा’ के राज में माफिया की शामत, कुख्‍यात बदन सिंह बद्दो के करीबी के ठिकानों पर चला बुलडोजर 

बिकनी गर्ल का वायरल वीडियो
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में अर्चना गौतम कह रही हैं कि उन्‍हें प्रचार के लिए बहुत कम समय मिला. इसके बाद भी उन्‍होंने अपनी ओर से भरपूर प्रयास किया. भाजपा उम्‍मीदवार लहर में जीते हैं. कुछ लोगों के हार के बाद क्षेत्र से न जाने की बात पर कहा कि वह यहीं रहेंगी, कहीं नहीं जाएंगी. उनका घर भी मेरठ शहर के गंगानगर में है. उन्होंने कहा कि प्रचार के दौरान लोग कहते थे कि यह लड़की कैसे काम करेगी. इसका जवाब देते हुए अर्चना ने कहा कि ऐसा करने के लिए वह गुंडी बनेंगी. तमाम नेता भी गुंडों की तरह काम करते हैं. वायरल वीडियो में अर्चना गौतम ने कहा कि मुसलमानों ने सपा को वोट दिया, लेकिन सपा की सरकार नहीं बनी. मुसलमानों, दलितों और किसानों को क्षेत्रीय दलों को छोड़कर राष्ट्रीय पार्टी कांग्रेस के साथ आना चाहिए. कांग्रेस सदा दलितों के बारे सोचती रही है. अर्चना गौतम ने वीडियो में यह भी कहा कि हर जगह भाजपाई जय श्रीराम के नारा लगाते रहते हैं. यह दिखाने का प्रयास करते हैं कि भगवान राम केवल उनके हैं. जबकि श्रीराम सभी के हैं.

The Kashmir Files: गोंडा के सभी सिनेमाहॉल में कल से फ्री एंट्री, बिजनेसमैन मुफ्त में दिखाएंगे ‘द कश्‍मीर फाइल्‍स’ 

मिस बिकनी इंडिया का खिताब
मूल रूप से मेरठ के गांव नंगला हरेरू निवासी अर्चना गौतम का गांव हस्तिनापुर क्षेत्र में ही आता है. उन्होंने वर्ष 2014 में मिस यूपी का खिताब जीता और मॉडलिंग शुरू की थी. वर्ष 2018 में मलेशिया में आयोजित मिस कॉस्मो वर्ल्ड प्रतियोगिता भी जीती थीं. अर्चना मिस बिकनी 2018 इंडिया का खिताब भी जीत चुकी हैं. इंटरनेट मीडिया पर लोग उन्‍हें बिकनी गर्ल भी कहते हैं. अर्चना गौतम के बिकनी गर्ल की उपाधि और राजनीति को लेकर अखिल भारत हिंदू महासभा ने चुनाव के वक्त विरोध किया था. हिंदू महासभा के प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक अग्रवाल ने कहा था कि अगर अर्चना गौतम हस्तिनापुर से चुनाव जीत जाएं तो वह चौराहे पर गर्दन कटवाने के लिए तैयार हैं. इस पर अर्चना गौतम ने कहा था कि दरांती साथ रखना. अब जबकि अर्चना गौतम ज़मानत तक नहीं बचा पाईं तो हिंदू महासभा भी मुखर हो गई है.

द्रौपदी के श्राप से हस्तिनापुर से मुक्‍त कराने का था वादा
अर्चना गौतम ने अपने चुनाव प्रचार में कहा था कि वह हस्तिनापुर को द्रौपदी के श्राप से मुक्त कराना चाहती हैं, लेकिन जनता ने अभिनेत्री को स्वीकार नहीं किया. रिजर्व सीट होने के बाद भी अर्चना को मत नहीं मिले. हालांकि, अर्चना गौतम का अभी भी यही कहना है कि वो मात्र कुछ दिन पहले ही राजनीति में आई हैं. वो कहती हैं कि ये तो आगाज़ है आगे आगे देखिए होता है क्या.

Tags: Assembly Election Results 2022, Assembly elections, Uttar Pradesh Assembly Elections

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर