Home /News /uttar-pradesh /

योगी के मंत्री बोले- सरकारी नौकरी कम, प्राइवेट में ज्यादा संभावना, मूंगफली बेचकर बन सकते हैं अरबपति

योगी के मंत्री बोले- सरकारी नौकरी कम, प्राइवेट में ज्यादा संभावना, मूंगफली बेचकर बन सकते हैं अरबपति

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकारी क्षेत्रों में पद बहुत सीमित होते हैं. सरकारी पदों के सापेक्ष पढ़े लिखे नौजवानों की एक लंबी फौज है. चाहकर सभी को सरकारी पदों के सापेक्ष समाजोयित नहीं किया जा सकता. लेकिन निजी क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं.

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकारी क्षेत्रों में पद बहुत सीमित होते हैं. सरकारी पदों के सापेक्ष पढ़े लिखे नौजवानों की एक लंबी फौज है. चाहकर सभी को सरकारी पदों के सापेक्ष समाजोयित नहीं किया जा सकता. लेकिन निजी क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं.

Meerut News: क्या यूपी या देश में आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हैं, जो मूंगफली बेचकर अरबपति बन गया हो. हो सकता है कि आप अंजान हों, लेकिन योगी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य पूरे दावे के साथ कहते हैं कि यहां जो कल तक सड़कों पर था, मूंगफली बेचता था, आज अरबों में खेल रहा है. पत्रकारों ने मोर्य से मूंगफली बेचकर अरबपति बनने वाला कोई उदाहरण बताने को कहा तो वह बोले “गूगल देखिए, सब मालूम हो जाएगा. वह बोले सरकारी क्षेत्रों में पद बहुत सीमित होते हैं, चाहकर भी सभी को सरकारी पदों के सापेक्ष समायोजित नहीं किया जा सकता.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. वेस्ट यूपी के मेरठ पहुंचे यूपी सरकार के श्रम सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने एक प्राइवेट विश्वविद्यालय में रोज़गार मेले का शुभारम्भ करते हुए कहा कि निजी क्षेत्र में मेहनत के हिसाब से आगे बढ़ने का मौका मिलता है. यहां मूंगफली बेचने वाला भी अरबपति बन गया. उन्होंने कहा कि जो कल तक सड़क की जिंदगी जी रहा था, वो आज अरबों में खेल रहा है. हालांकि बाद में जब स्वामी प्रसाद मौर्य से पत्रकारों ने पूछा कि कोई ऐसा उदाहरण बताएं जहां मूंगफली बेचने वाला अरबपति बन गया हो तो मंत्री जी ने कहा गूगल देखिए मालूम हो जाएगा.

स्वामी प्रसाद मोर्य ने कहा कि सरकारी क्षेत्रों में पद बहुत सीमित होते हैं. सरकारी पदों के सापेक्ष पढ़े- लिखे नौजवानों की एक लंबी फौज है. चाहकर सभी को सरकारी पदों के सापेक्ष समाजोयित नहीं किया जा सकता. लेकिन निजी क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं. उन्होंने कहा कि आज जो भी प्रतिभाशाली युवक है सरकारी क्षेत्र की बजाए निजी क्षेत्र को प्राथमिकता ज्यादा देता है. क्योंकि निजी क्षेत्र में प्रतिभा के अऩुसार आगे बढ़ने का मौका मिलता है. आप जितनी मेहनत करेंगे, आपका परफॉरमेंस जितना बेहतर होगा, उसके मुताबिक गुणात्मक ढंग से आपके वेतन की वृद्धि होती जाती है, उन्होंने कहा कि इसके विपरीत सरकारी क्षेत्र में एक तो सीमित पद हैं और वहां की बंधी हुई तनख्वाह है. आप चाहे कितना भी हार्ड वर्क करो, मिलेगा आपको उतना ही, लेकिन निजी क्षेत्र में आज जितना हार्ड वर्क करोगे, उतना ही आपको आगे बढ़ने का मौका मिलेगा. उन्होंने कहा कि तमाम ऐसे लोगो का जीवन परिचय अगर देखें तो कभी सामान्य व्यवसाय से जुड़े थे. मूंगफली बेचने वाला भी अरबपति बन गया. छोटे काम करने वाले उद्योगपति हो गए. जो कल तक सड़क पर ज़िन्दगी जा रहा था, वो अरबों में खेल रहा है.

बेटियों की शादी वीआईपी तरीके से हो रहीं

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, बीजेपी सरकार में वीआइपी तरीके से श्रमिकों की बेटियों की शादियां होती हैं. गंगानगर स्थित आइआइएमटी विश्वविद्यालय के सभागार में मंत्री ने कहा पिछली सरकारों में 2009 से 2017 तक श्रमिकों के केवल 22 लाख पंजीयन हुए थे, लेकिन बीजेपी सरकार में यह आंकड़ा 1.22 करोड़ के पार पहुंच गया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने जितनी सुविधाएं श्रमिकों के परिवारों को दी हैं, उतनी उसके पहले की सरकारों में सब मिलाकर भी नहीं दी गई. मौजूदा समय में एक गरीब श्रमिक की बेटी की शादी भी वीआइपी तरीके से सामूहिक विवाह के तहत होती है. अयोध्या, गाजियाबाद व लखनऊ में श्रमिकों की बेटियों के सामूहिक विवाह हुए. जिसमें मुख्यमंत्री से लेकर अन्य विभागों के मंत्री व विधायकगण शामिल हुए.

…जब मंत्री जी असहज हो गए

मंत्री आईआईएमटी विवि में आयोजित दो दिवसीय वृहद रोजगार मेले में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे. मंत्री उस वक्त थोड़ा असहज हो गए , जब पत्रकारों से बातचीत के दौरान एक दिव्यांग नौकरी न मिलने कि बात कहने लगा. हालांकि मंत्री ने कहा कि उसे उसकी प्रतिभा के अनुसार नौकरी ज़रूर मिलेगी.

Tags: Meerut news, Swami prasad maurya, UP news, Up news in hindi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर