COVID-19 Update: UP में कोरोना के 141 नए मामले, संक्रमितों की संख्‍या हुई 8870, अब तक 230 लोगों की मौत
Meerut News in Hindi

COVID-19 Update: UP में कोरोना के 141 नए मामले, संक्रमितों की संख्‍या हुई 8870, अब तक 230 लोगों की मौत
देश में अब तक दो लाख से ज्‍यादा लोग कोरोना वायरस की सपेट में आ चुके हैं. इनमें एक लाख से ज्‍यादा लोग इलाज के बाद ठीक हो गए हैं.

उत्तर प्रदेश में बुधवार को 141 और लोगों के कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. इसके साथ प्रदेश में अभी तक कुल 8870 लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में बुधवार को 141 और लोगों के कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है. इसके साथ प्रदेश में अभी तक कुल 8870 लोग इस वायरस से संक्रमित हुए हैं. जबकि उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से अब तक 230 लोग की मौत हुई है.

5257 लोग ठीक होकर घर लौटे
उत्‍तर प्रदेश के प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब तक सूबे में 5257 लोग इलाज के बाद संक्रमण मुक्त होकर घर पहुंच गए हैं. जबकि राज्य में फिलहाल 3,383 लोग का कोरोना वायरस संक्रमण के लिए इलाज चल रहा है. जबकि उन्होंने लोगों से अपील की है कि अगर किसी को भी खुद में या किसी अन्य व्यक्ति में कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण नजर आएं तो वह तुरंत इसकी सूचना प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को दे, क्योंकि जिन मामलों में संक्रमण को छिपाया गया या देर से बताया गया वहां उनके स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें ज्यादा आयी हैं.

यूपी में बुजुर्गों में कोरोना की रफ्तार पर लगा ब्रेक
उत्तर प्रदेश में बुजुर्गों के कोरोना संक्रमण के मामलों में अब गिरावट आ रही है. ये जानकारी प्रदेश के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन ने दी. उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण का प्रतिशत अब नीचे आ रहा है जो प्रदेश के लिए थोड़ी राहत देने वाली खबर है. राजधानी लखनऊ में पत्रकार वार्ता के दौरान प्रमुख सचिव ने कहा कि बुजुर्गों के संक्रमण का प्रतिशत अब गिरकर 5.99 प्रतिशत रह गया है, जो कि राहत की बात है.



सीएम  योगी आदित्यनाथ ने दिया ये आदेश
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि एक अभियान चलाकर राशन कार्ड के नए आवेदकों के कार्ड जल्दी बनाए जाएं और उन्हें तत्काल खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाए. गौरतलब है कि सामान्य प्रक्रिया के तहत नया राशन कार्ड बनने के बाद उस कार्ड धारक को करीब दो महीने के बाद पहली बार खाद्यान्न उपलब्ध होता है. लेकिन तात्कालिक जरुरतों को ध्यान में रखते हुए योगी ने निर्देश दिया है कि सभी जरुरतमंदों को राशन तुरंत उपलब्ध कराया जाए और सुनिश्चित किया जाए की कोई भूखा ना सोए.

ये भी पढ़ें
बाबरी मामलाः कल बड़ा दिन, CBI कोर्ट में 32 आरोपियों के दर्ज होंगे बयान

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज