कुल्हड़ में चाय तो पत्तल में मिलेगा खाना, ऐसे चल रही है कांवड़ यात्रा की तैयारी

कांवड़ यात्रा को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन माना जाता है. पिछले साल इस यात्रा के दौरान करीब पांच करोड़ कांवड़िए सड़कों पर थे.

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 11, 2019, 8:59 PM IST
कुल्हड़ में चाय तो पत्तल में मिलेगा खाना, ऐसे चल रही है कांवड़ यात्रा की तैयारी
कांवड़ यात्रा में दिखेगा देश भक्ति का रंग.
Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 11, 2019, 8:59 PM IST
उत्‍तर प्रदेश में कांवड़ यात्रा की जोरदार तैयारियां चल रही हैं. इस बार इसे इको फ्रेंडली बनाने पर खास फोकस किया गया है. यही नहीं, इस बार मेरठ में कांवड़ शिविरों में ज्यादातर मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल होगा और पत्तल में खाने की व्यवस्था की जाएगी. कांवड़ यात्रा को लेकर अभी से वेस्ट यूपी का माहौल केसरिया होने लगा है. वहीं, कांवड़ यात्रा को लेकर बाजार सजने लगे हैं और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की टी-शर्ट भी लोग खूब पसंद कर रहे हैं.

कुंभ की तरह होगा ये काम
पश्चिम उत्‍तर प्रदेश में सत्रह जुलाई से कांवड़ यात्रा की शुरुआत हो रही है. इस बार कांवड़ यात्रा को ईको फ्रेंडली करने की जोरदार तैयारियां चल रही हैं. ईको फ्रेंडली कांवड़ यात्रा के लिए मिट्टी के बर्तनों का इस्तेमाल होगा और पत्तलों पर खाने की व्यवस्था की जाएगी. जबकि इसे लेकर अधिकारी लोगों को जागरुक करने में जुटे हुए हैं. यही नहीं, कुम्भ मेले की तर्ज़ पर इस बार कांवड़ यात्रा में भी पॉलीथिन पर प्रतिबंध के साथ ही प्लास्टिक का इस्तेमाल पर भी रोक रहेगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर लगी हुई टीशर्ट की धूम है.


ऐसे हो रही है तैयारी
कांवड़ यात्रा को लेकर बाजार भी सज गए हैं और इस बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर लगी हुई टीशर्ट की धूम है. जबकि कांवड़ यात्रा का एक और तथ्य आपको जानकर अच्छा लगेगा कि जिस कांवड़ में कांवड़िए गंगाजल भरकर चलते हैं और भगवान भोलेशंकर के दरबार में जल चढ़ाते हैं उसे मुस्लिम भाई तैयार करते हैं. यही नहीं, मुस्लिम धर्म को मानने वाले लोग जगह-जगह शिविर लगाकर कांवड़ियों का हर साल स्वागत करते हैं. इस बार भी वो भोले के भक्तों का स्वागत करने के लिए बेताब हैं.

कांवड़ यात्रा में देश भक्ति का रंग भी दिखाई देता है.

Loading...

हर तरफ दिखेगा केसरिया रंग
कांवड यात्रा यानि हर तरफ केसरिया रंग. इस दौरान हर तरफ भोले का राज और हर ओर बम बम भोले की गूंज सुनाई देगी. हर हर महादेव का उदघोष भी खूब सुनाई देगा. जी हां, कांवड़ यात्रा शुरु होने में चंद दिन बचे हैं और आजकल वेस्ट यूपी का माहौल केसरिया होने लगा है. आपको बता दें कि कांवड़ यात्रा को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन माना जाता है. पिछले साल इस यात्रा के दौरान करीब पांच करोड़ कांवड़िए सड़कों पर थे. इस बार यह संख्या और अधिक बढ़ने का अनुमान है. उम्मीद है कि इस बार की कांवड़ यात्रा पिछली बार का रिकॉर्ड तोड़ेगी.

ये भी पढ़ें-यूपी विधानसभा उपचुनाव: अखिलेश यादव का फरमान, SP से टिकट चाहिए तो करना होगा ये काम

BJP MLA की बेटी ने इस मंदिर में की थी शादी, मैरिज सर्टिफिकेट को महंत ने बताया फर्जी
First published: July 11, 2019, 8:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...