Home /News /uttar-pradesh /

western up in under severe heatwave alert mercury reached 41 degrees in april after 43 years nodark

Weather Update: पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अप्रैल की गर्मी ने तोड़ा 43 साल का रिकॉर्ड, पारा 41 डिग्री पार

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भीषण गर्मी पड़ रही है.

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भीषण गर्मी पड़ रही है.

UP Weather Update: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के साथ राज्‍य के कई जिलों में इस बार भीषण गर्मी ने लोगों को बेहाल कर दिया है. यही नहीं, अप्रैल महीने में ही मई और जून जैसी गर्मी झेलनी पड़ रही है. मौसम वैज्ञानिक डॉक्टर एन सुभाष का कहना है कि अप्रैल के महीने में ही तापमान 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है और पिछले 43 साल में इतनी गर्मी कभी नहीं पड़ी है.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के साथ राज्‍य के कई जिलों में इस बार अप्रैल के महीने में गर्मी ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 43 साल के इतिहास में अप्रैल के महीने में इतनी गर्मी नहीं पड़ी है. भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्थान के प्रिंसिपल वैज्ञानिक डॉक्टर एन सुभाष का कहना है कि इस बार अप्रैल के महीने में ही तापमान 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि पिछले 43 साल में इतनी गर्मी कभी नहीं पड़ी है. साथ ही कहा कि ये गर्मी नॉर्मल टेंपरेचर से छह से सात डिग्री ज्‍यादा है.

वहीं, आईआईएफएसआर के वैज्ञानिक डॉक्टर एन सुभाष का कहना है कि इस बार लोग लू के थपेड़ों के लिए भी तैयार रहें, क्‍योंकि अप्रैल के महीने में ही हीट वेव आ गई है.

डॉक्टर एन सुभाष ने किसानों को दी ये सलाह
इसके साथ किसानों को सलाह देते हुए डॉक्टर सुभाष कहते हैं कि ऐसे मौसम में मिट्टी में आद्रता की कमी हो जाती है, लिहाजा मिट्टी में मल्चिंग करनी पड़ेगी. साथ ही कहा कि पिछले फसल का वेस्ट मटेरियल अगर मिट्टी में मिला दिया जाएगा तो फसल में रोज पानी देने की आवश्यकता नहीं रहेगी और मिट्टी में नमी बनी रहेगी. खासतौर से गन्ने की फसल को लेकर डॉक्टर सुभाष का कहना है कि फील्ड में पानी को रोकना चाहिए. वो कहते हैं कि सब्जी की खेती में पानी को रोकना पडे़गा, इसलिए रोज पानी दें और मल्चिंग तकनीक का सहारा लें. उन्होंने बताया कि अप्रैल के महीने में भीषण गर्मी से गेंहू की फसल पर भी असर पड़ेगा. गेंहू की पैदावार कम हो सकती है. डॉक्टर सुभाष का कहना है कि गेंहू भीषण गर्मी की वजह से जल्दी पक जाएगा, जिससे गेंहू की पैदावार भी कम हो सकती है.

इधर भीषण गर्मी को देखते हुए वही लोग आजकल दोपहर में घर से निकल रहे हैं जिन्हें बहुत जरूरी काम है. लोग चेहरा ढ़ककर अप्रैल की गर्मी को मात दे रहे हैं या फिर गन्ने का जूस पीकर तापमान का मुकाबला कर रहे हैं. लोग गन्ने का जूस पीते हुए भी यही कह रहे हैं कि अप्रैल की गर्मी ने तो सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. सूर्य देवता से प्रार्थना करते हुए लोग कहते हैं कि प्रभु जब अभी ये हाल है तो मई जून में क्या होगा.

लखनऊ में 42 डिग्री पहुंचा पारा
यही नहीं, यूपी की राजधानी लखनऊ में भी प्रचंड गर्मी का प्रकोप जारी है. जबकि दोपहर में चलने वाली लू ने घर से निकलना मुहाल कर दिया है. सोमवार को लखनऊ में तापमान 42 डिग्री रिकॉर्ड किया गया. वहीं, आगरा में भी गर्मी झुलसा रही है.

Tags: Heat Wave, UP news, Weather updates

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर