सांस लेने में तकलीफ होने पर मेरठ मेडिकल कॉलेज पहुंची महिला, भर्ती होने से पहले तोड़ा दम

ई-रिक्श में बैठी मरीज.

ई-रिक्श में बैठी मरीज.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) में मेडिकल कॉलेज (Medical College) का एक और भयावह फोटो व वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

  • Share this:

मेरठ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मेरठ (Meerut) में मेडिकल कॉलेज (Medical College) का एक और भयावह फोटो व वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वायरल वीडियो में एक परिवार अपने मरीज़ को लिए हुए ई रिक्शा पर बैठा नज़र आ रहा है. बताया जाता है कि महिला को भर्ती कराने के लिए परिजन घंटों भटकते रहे लेकिन किसी ने सुध नहीं ली. आखिरकार महिला ने ई रिक्शा पर ही दम तोड़ दिया. जब तक महिला को इमरजेंसी ले जाया जाता उसकी सांसे थम चुकी थीं.  बताया जाता है कि लिसाड़ी गेट के श्यामनगर निवासी हुस्नआरा को सांस लेने में तकलीफ थी. परिजन उन्हें ई रिक्शा में बैठाकर मेडिकल पहुंचे. यहां प्राथमिक उपचार की बजाए उन्हें कोरोना जांच कराकर आने को कह दिया गया.

सैंपल देने के बाद परिजन इमरजेंसी पहुंचे. ऑक्सीजन लेवल पचास पहुंचने पर उन्हें कोविड वार्ड ले जाने के लिए कह दिया गया. परिजन जब कोविड वार्ड पहुंचे तो बिना जांच रिपोर्ट भर्ती करने से मना कर दिया गया. बेबस परिजन हुस्नआरा को लेकर मेडिकल कैंपस के चक्कर काटते रह गए. भर्ती कराने की गुंजाईश तलाशते रहे. आखिरकार मेडिकल इमरजेंसी के गेट पर हुस्नआरा ने दम तोड़ दिया. परिजन अपने मरीज़ को ज़िन्दा लेकर आए थे. लेकिन शव लेकर चले गए.

Youtube Video

कब सुधरेंगे हालात
अब ई रिक्शा पर महिला को लेकर भटकते परिजनों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वायरल वीडिया में महिला ऑटो की फर्श पर लेटी हुई है. ऑटो के पीछे बैठी एक महिला और एक बेटा रो रहा है. ये तस्वीरें मन को विचलित कर देती हैं. एक तस्वीर में महिला ऑटो में नज़र आ रही है और उसका बेटा डॉक्टरों के पास गुहार लगाने गया है. जबकि दूसरी तस्वीर में ऑटो के पीछे बैठे बेटा और बेटी एकाएक ख़ामोश हो गए क्योंकि उनकी दुनिया उजड़ चुकी थी. मां उन्हें छोड़कर जा चुकी थी. मां को खोने के बाद बेटा बेटी की हालत ऐसी थी कि वो कुछ भी नहीं बोले. बस मां का हाथ पकड़कर रोते रहे. इस वायरल वीडियो को लेकर मेडिकल प्रिंसिपल से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उनका फोन उठा नहीं. सवाल ये है कि आखिर कब सुधरेंगे हालात.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज