लाइव टीवी

मंत्री को आते देख मरीजों को किया कमरे में बंद, फिर फ्रैशनर छिड़क कर दिखाने लगे अस्पताल

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 9:42 AM IST
मंत्री को आते देख मरीजों को किया कमरे में बंद, फिर फ्रैशनर छिड़क कर दिखाने लगे अस्पताल
मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि हम चाहते हैं कि लोगों को योजनाओं का लाभ मिले, इसी के चलते निरीक्षण किया था. लेकिन अस्पताला खुद बीमार हालत में है. (फाइल फोटो)

मथुरा (Mathura) के महर्षि दयानंद सरस्वती जिला चिकित्सालय का निरीक्षण करने पहुंचे उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma), गंदा पानी पीने को मजबूर मरीजों का हाल देख सीएमओ (CMO) और सीएमएस (CMS) को पिलाया वही पानी, अधिकारियों को लगाई जमकर फटकार.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 9:42 AM IST
  • Share this:
मथुरा. महर्षि दयानंद सरस्वती जिला चिकित्सालय, जिले का सबसे बड़ा अस्पताल लेकिन हाल ऐसे कि औचक निरीक्षण (Inspection) पर पहुंचे सूबे के ऊर्जा मंत्री और मथुरा से विधायक श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma) का भी सिर चकरा गया. न पीने का साफ पानी (Water), न सुरक्षा इंतजाम, लटकते बिजली के तार और हद तो तब हो गई जब मंत्री जी को आता देख अस्पताल (Hospital) के अधिकारियों ने मरीजों (Patients) को ही कमरे में बंद कर दिया. इन सभी कमियों को ढकने के लिए जिला अस्पताल के अधीक्षक मंत्री श्रीकांत शर्मा के पहुंचने से पहले अस्पताल में फ्रैशनर का छिड़काव करवाते दिखे. हालांकि उनका यह फ्रैशनर उनकी मदद नहीं कर सका और उनके साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी को भी जमकर फटकार लगी.

जैसे ही मंत्री श्रीकांत शर्मा अस्पताल पहुंचे वे सीधे वहां लगे आर ओ प्लांट पर गए. वहां पर पहले खुद उन्होंने पानी पिया. ऐसा करने से अधिकारियों ने उन्हें रोकने की कोशिश भी की लेकिन वे नहीं रुके. बाद उनका माथा ठनक गया और उन्होंने तुरंत सीएमएस और सीएमओ को बुलाया. इसके बाद उन्होंने दोनों को वह पानी पीने का आदेश दिया. मरता क्या न करता, मंत्री जी के आदेश पर दोनों ने पानी पी लिया. इसके बाद जब उनसे सवाल किया गया कि क्या यह पानी मरीजों के पीने के लायक है तो दोनों एक दूसरे की बगलें झांकते दिखे. फिर जवाब दिया कि पानी में टीडीएस ज्यादा है लेकिन कुछ समय पहले ही आर ओ प्लांट की सफाई करवाई गई है. इसके बाद शर्मा ने आरओ रूम का ताला खुलवा कर देखना चाहा तो उसकी चाबी ही नहीं मिली. इस पर शर्मा ने अस्पताल का निरीक्षण कर के आने की बात कही और ताला खोलने के निर्देश दिए. लेकिन हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब दो घंटे बाद शर्मा निरीक्षण कर एक बार फिर आरओ प्लांट के पास पहुंचे तो वहां पर ताला लगा मिला क्योंकि उसकी चाबी नहीं मिल सकी थी.

मरीजों को किया कमरे में बंद
मंत्री के आने की बात पता चलते ही अस्पताल में मौजूद कुछ मरीजों को तो वार्ड के अंदर मौजूद एक कमरे में बंद कर दिया गया था. लेकिन जैसे ही उन मरीजों को पता चला कि शर्मा निरीक्षण पर हैं तो उन्होंने शोर मचा दिया. उनका शोर सुन कर श्रीकांत वहां पहुंचे पूछताछ की तो पता चला कि मरीजों को भर्ती तो किया गया है लेकिन वार्ड में रखने की जगह एक कमरे में बंद कर दिया गया है. इस पर गुस्साए शर्मा ने तत्काल सभी को कमरे से निकाल कर वार्ड में भर्ती करने के निर्देश दिए.

मीडियाकर्मियों के कैमरे बंद करवा पूछा कितनी है पगार
इसके बाद शर्मा अचानक ही दिव्यांग शौचालय में घुस गए. यहां पर हादसे को आमंत्रित करते बिजली के खुले तार लटकते दिखे तो शर्मा का पारा चढ़ गया. इस संबंध में सीएमएस कुछ जवाब भी नहीं दे सके. गुस्साए शर्मा ने मीडियाकर्मियों के कैमरे बंद करने का आग्रह किया और फिर सीएमएस को जमकर लताड़ लगाई, उन्होंने यहां तक कह दिया कि सीएमएस साहब आपको वेतन कितना मिलता है. काम क्यों नहीं हो रहे हैं अस्पताल में.

खुद का अस्पताल चलाते हैं सीएमएस
Loading...

इस दौरान वहां मौजूद कुछ लोगों ने शर्मा से शिकायत की कि सीएमएस साहब का खुद का निजी अस्पताल चलता है, उनका पूरा ध्यान वहीं है. इस पर तो मंत्री का पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया और उन्होंने तत्काल जिला मजिस्ट्रेट को जांच करने का निर्देश दिया और 24 घंटे में कार्रवाई कर रिपोर्ट तलब की.

बीमार हालत में है अस्पताल
मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि हम चाहते हैं कि लोगों को योजनाओं का लाभ मिले, इसी के चलते निरीक्षण किया था. लेकिन अस्पताला खुद बीमार हालत में है. यहां पर एक्सरे मशीन पुरानी है, अल्ट्रासाउंड की व्यवस्‍था ठीक नहीं है, सीएमएस स्तर पर कमियां मिली हैं जिन्हें दूर करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि हालात जल्द ठीक किए जाएंगे और कार्रवाई भी होगी.

रटा रटाया जवाब देते दिखे सीएमओ
जब सीएमओ डॉक्टर मौर्य से निरीक्षण के संबंध में पूछा गया तो वे रटा रटाया सा जवाब देते दिखे. उन्होंने कहा कि निरीक्षण बहुत बढ़िया था, मंत्री जी को अस्पताल में बहुत कुछ अच्छा मिला. कुछ कमियां भी थीं जो उन्होंने नोट करवाई हैं, जिन्हें जल्द ही ठीक करवाया जाएगा.

(रिपोर्टः नितिन गौतम)

ये भी पढ़ेंः गे-पार्टनर के महिलाओं से भी थे अवैध संबंध, सच्चाई जानकर बॉयफ्रेंड ने मारी गोली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मथुरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 9:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...