फरियादी की मौत से हड़कंप, बेटी का आरोप- पुलिस लॉकअप में तोड़ा दम

ये मामला गोपीगंज नगर के ज्ञानपुर रोड स्थित फूलबाग का है. यहां के निवासी रामजी मिश्र और उनके भाई के बीच मकान और जमीन बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था. इसी विवाद की फरियाद लेकर वे थाने पहुंचे थे,


Updated: June 30, 2018, 4:05 PM IST

Updated: June 30, 2018, 4:05 PM IST
यूपी के भदोही जिले में फरियादी की मौत से हड़कंप मच गया. पारिवारिक विवाद की शिकायत लेकर पुलिस थाने पहुंचे फरियादी की अचानक मौत से हंगामा हो गया. परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने मृतक की फरियाद सुने बिना उनसे मारपीट की और उन्हें लॉकअप में बंद रखा, जहांं उनकी हालत बिगड़ने की वजह से उनकी जान चली गई.

ये मामला गोपीगंज नगर के ज्ञानपुर रोड स्थित फूलबाग का है. यहां के निवासी रामजी मिश्र और उनके भाई के बीच मकान और जमीन बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा था. इसी विवाद की फरियाद लेकर वे थाने पहुंचे थे, जहां परिजनों का आरोप है कि कोतवाली में इंपेक्टर सुनील वर्मा से ने मृतक फरियादी को पीटा और बिना लिखा-पढ़ी के हवालात में डाल दिया, जहां उनकी संदिग्ध हालात में मौत हो गई.

परिजन ने दोषी पुलिसकर्मियो पर कार्रवाई की मांग रहे थे लेकिन कार्रवाई न होने पर उनका गुस्सा सड़क पर उतर आया. मृतक की पत्नी, बेटियों के साथ सैकड़ो लोगों ने वाराणसी -इलाहबाद हाईवे जाम कर कर दिया. मृतक की बेटी ने गोपीगंज कोतवाली के इन्स्पेक्टर सुनील वर्मा पर 70 हजार रुपये  देकर मामले को रफा-दफा करने का आरोप लगाया है.

यह भी पढ़ें: लखनऊ: अनूप चंद्र पांडेय आज संभालेंगे UP के नए 'मुख्य सचिव' का पदभार

इस मौके  पर मृतक के परिजनों से मिलने भाजपा से भदोही के विधायक रविंद्रनाथ त्रिपाठी भी पहुंचे उन्होंने कहा की जांच में जो दोषी पाया जायेगा उस पर कठोर कार्रवाई की जाएगी. वहींं इस मामले में एसपी ने गोपीगंज कोतवाल सुनील वर्मा को लाइन हाजिर कर दिया है और विभागीय जाँच अपर पुलिस अधीक्षक को सौपी है. वहींं जिलाधिकारी ने मजिस्ट्रेडी जांंच के आदेश दिए है. यह जांच अपर जिलाधिकारी करेंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर