अपना शहर चुनें

States

अनुप्रिया ने चुनाव आयोग को लिखा पत्र, अपना दल (कृष्णा) को बैन करने की मांग

अनुप्रिया पटेल और कृष्णा पटेल
अनुप्रिया पटेल और कृष्णा पटेल

बता दें कि अपना दल (सोनेलाल) जहां भाजपा के साथ गठबंधन में है तो अपना दल (कृष्णा) ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाया है. एनडीएन ने अनुप्रिया की पार्टी को दो सीटें पर चुनाव लड़ने का मौका दिया है.

  • Share this:
यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान अपना दल में मचा घमासान एक बार फिर सामने आने लगा है. इसी कड़ी में अनुप्रिया पटेल की पार्टी अपना दल (सोनेलाल) के राष्ट्रीय महासचिव अनुज पटेल ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर अपना दल (कृष्णा) को बैन करने की मांग की है. उनकी मांग पर चुनाव आयोग ने अपना दल (कृष्णा) के खिलाफ जांच भी शुरू कर दी है.

अनुज पटेल ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त दिल्ली को पत्र लिखकर शिकायत की है कि अपना दल (सोनेलाल) के नाम से उनकी पार्टी का रजिस्ट्रेशन है, ऐसे में उस नाम का इस्तेमाल कृष्णा पटेल द्वारा किया जाना सही नहीं है. इस नाम का इस्तेमाल केवल वह व उनकी पार्टी के लोग व प्रत्याशी कर सकते हैं. अनुप्रिया पटेल ने मांग की है कि कृष्णा पटेल को अपना दल पार्टी का नाम इस्तेमाल करने, उसके चिन्ह व झंडे का इस्तेमाल करने पर रोक लगायी जाये. इस मामले में चुनाव आयोग ने अनप्रिया की शिकायत पर जांच शुरू कर दी है.

चुनाव अयोग को लिखा पत्र




अनुप्रिया के चुनाव आयोग से अपना दल सोने लाल को पंजीकृत कराने के बाद अब अगर किसी दूसरे दल के प्रत्याशी ने अपना दल का झंडा आदि इस्तेमाल किया तो उस पर आयोग की नियम तोड़ने की धाराओं के तहत कार्रवाई की जायेगी. बता दें कि अपना दल (सोनेलाल) जहां भाजपा के साथ गठबंधन में है तो अपना दल (कृष्णा) ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाया है. एनडीएन ने अनुप्रिया की पार्टी को दो सीटें पर चुनाव लड़ने का मौका दिया है. इनका भाजपा के साथ गठबंधन भी है. जिसमें मिर्जापुर से अनुप्रिया खुद चुनाव लड़ेंगी, जबकि अभी दूसरी सीट पर संशय बना हुआ है.
जातीय ब्लू प्रिंट 

यूपी के जातीय ब्लू प्रिंट पर नजर डालें तो पूर्वांचल और सेंट्रल यूपी के करीब 32 विधानसभा सीटें और आठ लोकसभा सीटें ऐसी हैं, जिन पर कुर्मी, पटेल, वर्मा और कटियार मतदाता चुनाव में निर्णयाक भूमिका निभाते हैं. पूर्वांचल के कम से कम 16 जिलों में कहीं 8 तो कहीं 12 फ़ीसदी तक कुर्मी वोटर राजनीतिक समीकरण बदलने की हैसियत रखते हैं.

ये भी पढ़ें:

मायावती ने SC में दाखिल किया हलफनामा, बोलीं- मूर्तियों की स्थापना सही

प्रयागराज: सुनो डॉक्टर, एक करोड़ रुपये नहीं दिए तो हो जाओ मरने के लिए तैयार

शायर इमरान प्रतापगढ़ी आज करेंगे नामांकन, राज बब्बर भी होंगे शामिल

अखिलेश यादव के खिलाफ ताल ठोकेंगे अर्थी बाबा, आजमगढ़ का 'श्मशान घाट' होगा चुनाव कार्यालय

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज