टोक्यो में जलवा बिखेरेंगे मिर्जापुर के कालीन, UP की कारीगर महिलाएं बनेंगी जापान की मेहमान

मिर्जापुर की महिलाओं को जापान आने का मिला मौका.
मिर्जापुर की महिलाओं को जापान आने का मिला मौका.

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर (Mirzapur) खजूरी गांव की स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को जापान (Japan) से न्यौता मिला है. वे यहां 2021 में होने वाली कालीन फेस्ट में शामिल  होंगी.

  • Share this:
मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर (Mirzapur) की दरी अब टोक्यो में अब अपना जलवा बिखेरनी जा रही है  2021 में जापान की मेहमान बनने का मौका गांव की महिलाएं को मिला है. इसके लिए सिटी ब्लॉक के खजूरी गांव की स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को जापान (Japan) से न्यौता मिला है . जहां पर स्वयं सहायता समूह की महिलाएं अपनी कला को प्रदर्शित करेंगी. इस बात की जानकारी होने पर समूह की महिलाए काफी खुश हैं कि इसी बहाने उन्हें अपनी हस्तकला औऱ देश का नाम रोशन करने का मौका मिलेगा. उत्तर प्रदेश के भदोही और मिर्ज़ापुर जनपद की  कालीन और दरी देश विदेश में पहले से ही प्रसिद्व है. अपनी उत्कृष्ट कार्य औऱ डिजाइन के कारण इसकी हमेशा से ही मांग रही है.

अब  मिर्ज़ापुर जनपद की स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं भी इस काम मे जुड़कर बेहतरीन दर्जे की दरी और धागों से बनी उत्कृष्ट कला का प्रदर्शन कर रही है. इनकी बिक्री से समूह की महिलाओं को आर्थिक फायदा भी हो रहा है जिससे वह स्वावलंबी बनने के साथ ही आत्मनिर्भर भी हो रही हैं. अपनी कला और मेहनत के चलते ही आज खजूरी गांव में बने स्वयं सहायता समूह को जापान में अगले साल लगने वाले कालीन मेले में शामिल होने के लिए न्योता मिला है. समूह की अध्यक्ष अफसाना बेगम कहती है कि हमारे समूह में करीब 10 महिलाएं जुड़ी हैं. कहती है इससे हमें अपना हुनर दिखाने का मौका मिलेगा. साथ ही वहां से हमे बहुत कुछ सीखने को भी मिलेगा क्योंकि मेले में कई देशों के लोग भाग लेंगे.

अब मिर्ज़ापुर जनपद की स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं भी इस काम मे जुड़कर बेहतरीन दर्जे की दरी और धागों से बनी उत्कृष्ट कला का प्रदर्शन कर रही है.




ये भी पढ़ें: गुर्जर समाज का गहलोत सरकार को अल्टीमेटम, मांग नहीं मानी तो दौसा में होगा उग्र आंदोलन
मुख्य विकास अधिकारी ने जताई खुशी

इस बारे में मुख्य विकास अधिकारी अविनाश सिंह ने बताया कि यह काफी खुशी की बात है की हमारे जनपद की महिलाओ को विदेश की धरती पर अपने हुनर के साथ देश का नाम रोशन करने का मौका मिला है. इन महिलाओ को  लाने और ले जाने की व्यवस्था MSME विभाग करेगा. साथ ही कहा कि इनकी हस्तकला की ख्याति को देखते हुए ही इनको आमंत्रित किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज