Assembly Banner 2021

भदोहीः उगते सुर्य को अर्घ्य देकर श्रद्धालुओं ने की छठी मईया की उपासना

पूर्वी उत्तर प्रदेश में धूमधाम से मनाया गया छठ पर्व

पूर्वी उत्तर प्रदेश में धूमधाम से मनाया गया छठ पर्व

सूर्य देव की उपासना का महापर्व शुक्रवार को भगवान सुर्य को अर्घ्य देने का बाद चौथे दिन आखिकार समाप्त हो गया. सूबे के भदोही जिले में गोपीगंज के रामपुर गंगा घाट और ज्ञानपुर के ज्ञानसरोबर में व्रती महिलाओं ने भी बड़ी संख्या एकत्र होकरउगते सूर्य को अर्घ्य दिया.

  • Share this:
सूर्य देव की उपासना का महापर्व शुक्रवार को भगवान सुर्य को अर्घ्य देने का बाद चौथे दिन आखिकार समाप्त हो गया. सूबे के भदोही जिले में गोपीगंज के रामपुर गंगा घाट और ज्ञानपुर के ज्ञानसरोबर में व्रती महिलाओं ने भी बड़ी संख्या एकत्र होकरउगते सूर्य को अर्घ्य दिया.

गत 24 अक्टूबर को नहाय खाय के साथ शुरू हुआ छठ महापर्व सप्तमी को उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही समाप्त हो गया, जिसे पारण भी कहा जाता है. मान्यता के अनुसार कोई भी व्यक्ति जो पूरे श्रद्धा भाव से व्रत कर के सूर्य देव की उपासना करता है और अर्घ्य देता है तो उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और उसके कई जन्मों के पाप धुल जाते हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक भदोही जिले में गंगा घाटों और तालाब पर सुबह से ही सुर्य को अर्घ्य देने के लिए व्रती महिलाओं की भारी भीड़ एकत्र थी, जहां गाजे-बाजे के साथ लोग घाटों पर पहुंचे. बताया जाता है जैसे ही ललिमामय सूर्य निकले तो सूर्य को व्रती महिलाओ ने अर्घ्य दिया है.



इस पर्व को लेकर जिले में भारी उत्साह देखा गया है छठ मानाने के लिए घरो से दूर रहने वाले सभी सदस्य इन दिनों अपने अपने घर वापस आये है। माना जाता है की इस मौके पर जो भी छठ मैया से मांगा जाता है वह मनोकामना जरूर पूरी होती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज