विंध्यवासिनी मंदिर में दर्शन पर विवाद : पुरोहित को पीटने के मामले में 3 पुलिसकर्मी सस्पेंड

वीकेंड लॉकडाउन के दौरान दर्शन कराने को लेकर विंध्यवासिनी मंदिर के बाहर हुआ था विवाद.

स्थानीय पंडों का आरोप है कि मंदिर पर अधिकारी और पुलिसवाले अपने परिचितों को तो शनिवार और रविवार को दर्शन-पूजन करा रहे हैं. मगर वह आम दर्शनार्थियों को डीएम के आदेश का हवाला देकर रोक दे रहे हैं. जिसको लेकर विवाद बना है.

  • Share this:
    विंध्याचल. यूपी के विंध्याचल में प्रसिद्ध विंध्यवासिनी मंदिर के बाहर पंडे की पिटाई के मामले में तीन सिपाही निलंबित कर दिए गए हैं. पंडे के खिलाफ भी विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. यह विवाद शनिवार और रविवार को बंद मंदिर में दर्शन-पूजन कराने को लेकर हुआ था. दरअसल, चंदौली के एक बड़े अधिकारी सपरिवार मंदिर दर्शन के लिए गए थे. उन्हें लेकर एक स्थानीय पंडा मंदिर में प्रवेश करना चाहता था, मगर पुलिसवालों ने उसे रोका. इसी विवाद के बाद मंदिर की सीढ़ियों के पास पुलिसवालों ने स्थानीय पंडे की जम कर पिटाई कर दी थी. इस पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है.

    आमभक्तों हुए थे नाराज

    बताया जाता है कि विंध्यवासिनी मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए चंदौली के एक बड़े अधिकारी सपरिवार गए थे. एक स्थानीय पंडा उन्हें जबरन अंदर ले जाना चाह रहा था. इस पर वहां मौजूद पुलिसवालों ने उन्हें रोका. इसी में विवाद इतना बढ़ा कि वहां मौजूद पुलिसवालों ने जबरन मंदिर में घुसने का प्रयास कर रहे पंडे की जम कर पिटाई कर दी. मंदिर सुरक्षा में तैनात आधा दर्जन पुलिसवालों ने मंदिर की सीढ़ियों के पास पंडे को पकड़ कर लात-घूंसों से पीट दिया. दरअसल, चंदौली के बड़े अधिकारी और उनके परिवार को मंदिर में दर्शन-पूजन कराए जाने से नाराज आम दर्शनार्थी भी मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए अड़ गए.

    स्थानीय पंडों का आरोप

    स्थानीय पंडों का आरोप है कि मंदिर पर अधिकारी और पुलिसवाले अपने परिचितों को तो शनिवार और रविवार को दर्शन-पूजन करा रहे हैं. मगर वह आम दर्शनार्थियों को डीएम के आदेश का हवाला देकर रोक दे रहे हैं. जिसको लेकर विवाद बना है.

    'पुलिसवाले जाने नहीं देते'

    वाराणसी से दर्शन-पूजन करने आए अखिलेश गुप्ता ने कहा कि यहां पर किसी जिले के डीएम आए तो उन्हें दर्शन करवाया गया. हमें कह रहे हैं कि IAS पीसीएस हो कर आओ तब दर्शन करने मिलेगा होगा. स्थानीय शख्स ने कहा कि यहां पर शनिवार और रविवार को मंदिर खुला रहता है. लेकिन आम भक्तों को अंदर जाने की अनुमति नहीं है. आम लोगों को सीढ़ी से आगे नहीं जाने दिया जाता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.