Corona warriors: जब छोटी बच्ची ने कहा - हम यहां अपना पैसा मोदी जी को देने आए हैं...

सुहानी ने अपना गुल्लक सिटी मजिस्ट्रेट को सौंप कर पीएम मोदी तक पंहुचाने को कहा

सुहानी ने अपना गुल्लक सिटी मजिस्ट्रेट को सौंप कर पीएम मोदी तक पंहुचाने को कहा

सदर कोतवाली में सिटी मजिस्ट्रेट व अन्य पुलिस अधिकारी छोटी सी लड़की को गुल्लक के साथ आया देख कर पहले तो हैरान रह गए लेकिन जब बच्ची से बात कर उसकी मंशा समझ आई तो सभी ने उसके जज्बे की सराहना की.

  • Share this:
मिर्जापुर. कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) है. वैश्विक महामारी (Pandemic) कोरोना वायरस (Coronavirus) की चपेट में इस वक्त पूरा देश आ चुका है. ऐसे में सरकार व पूरी प्रशासनिक मशीनरी शिद्दत से इस आपदा से निपटने में जुटी है. लोग भी अपनी क्षमता के मुताबिक़ सरकार के कोष में फंड जमा कर रहे हैं जिससे इस संक्रमण से जंग लड़ी जा सके. इस जंग में पीएम मोदी (PM Modi) का साथ देने अब छोटे-छोटे बच्चे भी उतर आए हैं. जगह-जगह ये नौनिहाल अपना गुल्लक लेकर पीएम-सीएम राहत कोष में देने पहुंच रहे हैं.

गुल्लक के पैसों से साइकिल खरीदना चाहती थी

ऐसी ही कोरोना वारियर (corona warrior) बनी हैं मिर्जापुर की 10 वर्षीय सुहानी. सुहानी पिछले एक साल से गुल्लक में साइकिल खरीदने के लिए पैसे जमा कर रही थीं, लेकिन जब उन्होंने टीवी पर पीएम मोदी की अपील सुनी तो कोरोना से लड़ाई में मदद देने के लिए अपना गुल्लक लेकर शहर कोतवाली थाने में पहुंची और वहां मौजूद अधिकारियों से ये पैसा पीएम मोदी तक पहुंचाने को कहा. एक साल से साइकिल खरीदने की उम्मीद से पैसे इकठ्ठा कर रही मासूम ने अपना गुल्लक थाने पर मौजूद अधिकारियों को कोरोना पीड़ितों के मदद के लिए पीएम केयर फंड में जमा करने के लिए सौंप दिया. कक्षा 5 में पढ़ने वाली दस वर्षीय सुहानी पीएम के आह्वान पर कोरोना से लड़ाई के लिए मदद के लिए आगे आयी है.

बता दें कि शहर कोतवाली में जब सिटी मजिस्ट्रेट पुलिस अधिकारियों के साथ लॉकडाउन को लेकर बैठक कर रहे थे. तभी सुहानी अपने पिता के साथ अपना गुल्लक ले कर थाने पहुंच गयी. छोटी सी लड़की को गुल्लक के साथ थाने में देख अधिकारी भी हैरान रह गए लेकिन जब बच्ची की मंशा समझ आई तो सभी ने उसके जज्बे की सराहना की. सुहानी ने अधिकारियों को अपना गुल्लक सौंपते हुए इसे कोरोना फंड में पैसे भेजने के लिए दिया, सिटी मजिस्ट्रेट जगदम्बा सिंह ने गुल्लक तोड़वा कर पैसे गिनवाए तो उसमें 4 हजार 91 रुपए निकले. सुहानी के पिता ने बताया कि वह पिछले एक साल से साइकिल खरीदने के लिए गुल्लक में पैसे जमा कर रही थी. मगर कोरोना से लड़ाई में पीएम की अपील पर अपने गुल्लक के पैसे कोरोना से लड़ाई के लिए देने की इच्छा जताई जिसके बाद वे उसे लेकर यहां आए. सिटी मजिस्ट्रेट ने भी सुहानी के जज्बे की तारीफ की और बताया कि पैसा पीएम केयर फंड में जमा करके इसकी रसीद बच्ची को सौंप दी जाएगी. इस बारे में जब सुहानी से बात की गई तो वो बड़ी मासूमियत से बोली 'हम यहां आए हैं अपना पैसा मोदी जी को देने'
ये भी पढ़ें- Corona warriors: मिसाल बनी नन्ही प्रियंका, अपना गुल्लक सीएम रिलीफ फंड को सौंपा


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज